3 कारण इसलिए आस्ट्रेलियन क्रिकेट टीम विश्वकप 2019 हारते हुए नजर आ सकती है

3 कारण इसलिए आस्ट्रेलियन क्रिकेट टीम विश्वकप 2019 हारते हुए नजर आ सकती है

विश्वकप के निकट आते ही ढेरों प्रश्न और कयास  लगाए जा रहे हैं। हरके क्रिकेट प्रेमी अपनी टीम को वर्ल्ड कप जीतते हुए देखना चाहता है। इन्हीं प्रश्नों और कयासों के बीच एक प्रश्न यह भी है कि क्या गत चैंपियन ऑस्ट्रेलिया इस बार भी विश्वकप जीत पायेगा? अगर ऑस्ट्रेलिया की टीम ऐसा करने में सफल होती है तो वह पहली टीम बन जाएगी जिसने 6 बार विश्वकप का खिताब जीता साथ ही लगातार दो विश्वकप ट्रॉफी अपने नाम की।


अब तक ऑस्ट्रेलिया के अलावा किसी भी टीम ने 2 बार से ज़्यादा वर्ल्डकप ट्रॉफी नहीं पायी हैं। पर क्या यह मुमकिन है आइए नजर डालते हैं इस प्रश्न पर।


1. ऑस्ट्रेलिया अब नहीं रही वह पुरानी ताकतवर टीम




एक समय ऑस्ट्रेलिया का विश्व क्रिकेट पर गजब का दबदबा था और उन्हें हराना लगभग नामुमकिन सा था किसी भी टीम के लिए। रिकी पोंटिंग, एडम गिलक्रिस्ट, मैथ्यू हेडन, डेमियन मार्टिन, माइकल क्लार्क जैसे बल्लेबाजों से सजी टीम किसी भी बॉलिंग लाइन अप का मनोबल तोड़ सकती थी। उनकी गेंदबाजी भी धुआँधार हुआ करती थी जिसमें ग्लैन मैक्ग्रा, शेन वार्न, जेसन गिलेस्पी जैसे खतरनाक गेंदबाज हुआ करते थे। परंतु इन खिलाड़ियों के सन्यास के बाद टीम काफी कमजोर हुई और पिछले साल कप्तान स्टीवन स्मिथ और उपकप्तान डेविड वार्नर के पाबंदी के बाद टीम बिल्कुल साधारण सी लगती है। हालांकि अब भी टीम के पास मैक्सवेल और फिंच जैसे मैच जीताऊ खिलाड़ी हैं पर अब वह बात नहीं दिखाई देती है।


2. हौसला पस्त टीम




ऑस्ट्रेलिया की टीम को हमेशा से नेवर टू डाइ रवैये के लिए जाना जाता है पर बॉल टैम्परिंग के मामले के बाद से जब से स्मिथ और वार्नर टीम से बाहर हुए हैं टीम का मनोबल टूट चुका है। साल 2018 में  सीरीज दर सीरीज उनका प्रदर्शन बिगड़ता चला गया। ऐसे में इस टीम से विश्वकप जीतने की आस लगाना थोड़ा कठिन है।


3. एक सख्त कप्तान की कमी




स्मिथ के बैन होने के बाद से ऑस्ट्रेलिया एक सक्षम कप्तान ढुंढने में भी असफल रहा है। पहले विकेटकीपर टिम पैन को कप्तानी दी गई और फिर साधारण प्रदर्शन के बाद उनसे कप्तानी छीन कर सलामी बल्लेबाज एरन फिंच को कप्तान बनाया गया और  2018 में वह भी कुछ खास फॉर्म नहीं कर पायें. यहाँ तक की एक अर्धशतक तक नहीं लगा पाये।


पर इन सब के बावजूद ऑस्ट्रेलिया को कमजोर आंकना बेवकूफी होगी, क्योंकि टीम में टेलेंट और प्रतिस्पर्धा की कमी नहीं है और सीनियर खिलाड़ी वार्नर और स्मिथ के वापस लौट आने से टीम का हौंसला बढेगा। 2019 में ऑस्ट्रेलिया का प्रदर्शन अब तक अच्छा रहा है और वह भारत और पाकिस्तान के खिलाफ उन्हीं के देश में सीरीज जितने में सफल रहे हैं और अगर वह इस फॉर्म को बरकरार रख पाए तो वह एक बार फिर चैंपियन बन सकते हैं

0 Comment

6,6,6,6,4,4,4,4,4,4,4,4- संजू सैमसन के तूफ़ान के आगे उड़ गया सनराइजर्स हैदराबाद, संजू ने मैच में आईपीएल 2019 का पहला शतक ठोका

आईपीएल 2019 संजू सैमसन

(IPL 2019 ka pehla shatak) आईपीएल 2019 के अंदर संजू सैमसन ने पहला शतक लगा दिया है. आपको बता दें कि संजू सैमसन ने आज 55 गेंदों पर 102 रन की तूफानी पारी खेलकर राजस्थान रॉयल्स के लिए एक महत्वपूर्ण और जिम्मेदारी पूर्ण पारी खेली है. आईपीएल 2019 के आठवें मैच में आज सनराइजर्स हैदराबाद और राजस्थान रॉयल्स का मुकाबला राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम पर हैदराबाद के साथ हुआ. इस मैच में पहले बल्लेबाजी करने उतरी राजस्थान रॉयल्स ने 20 ओवरों में 198 रन का बड़ा स्कोर हैदराबाद के सामने बनाया.




राजस्थान की पारी की सबसे बड़ी बात यही रही कि संजू सैमसन ने 185 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं. संजू सैमसन ने 55 गेंदों पर 102 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली। संजू सैमसन ने अपनी पारी में आज टीम इंडिया के सबसे महत्वपूर्ण गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार की जमकर पिटाई की है. भुवनेश्वर कुमार को भी नहीं पता था कि संजू सैमसन जैसा एक युवा खिलाड़ी इस तरीके से उनकी पिटाई करता हुआ मैच में नजर आएगा. संजू सैमस ने मैच में 4 छक्के और 10 चौके लगाए हैं. संजू सैमसन की तूफानी पारी के दम पर ही राजस्थान रॉयल्स मैच में 198 रन बना पाई है.


IPL 2019 ka pehla shatak



संजू सैमसन की मैच के बाद केविन पीटरसन ने जमकर तारीफ की है. पीटरसन ने यह बात बोली है कि निश्चित रूप से संजू सैमसन एक बेहतरीन बल्लेबाज हैं और क्लासिक बल्लेबाजी करते हैं. साथ ही साथ कुमार संगकारा ने भी संजू सैमसन की तारीफ करते हुए बोला है कि इस बल्लेबाज को अधिक से अधिक मौके मिलने चाहिए।


आईपीएल 2019 में संजू सैमसंग की यह पारी निश्चित रूप से सभी को याद रहने वाली है. संजू सैमसन इससे पहले भी घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करते हुए नजर आए हैं लेकिन इंडियन क्रिकेट टीम में जरूर इनको अधिक मौके नहीं मिल पाए हैं अन्यथा टीम इंडिया के लिए यह खिलाड़ी महत्वपूर्ण रोल अदा कर सकता था.

0 Comment

विराट कोहली से आखिर कहाँ हुई गलती कि आईपीएल के पहले ही मैच में इनकी टीम 70 रनों पर आल आउट हो गयी है

आईपीएल 2019 का पहला मैच चेन्नई सुपर किंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच हुआ है. आपको बता दें कि रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की शुरुआत एक बार फिर से आईपीएल में बेहद खराब रही और टीम पहले ही मैच में 70 के स्कोर पर ऑलआउट होती हुई नजर आई है. कोहली ने सपने में भी नहीं सोचा होगा कि इतनी खराब शुरुआत आईपीएल 2019 में इनकी रहने वाली है.


तो आइए आपको बताते हैं कि आखिर विराट कोहली से कहां गलती हुई कि जिसके चलते रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम मात्र 70 के स्कोर पर आउट हो गई-



रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम से अगर मैच में कहीं कोई गलती हुई है तो यही थी कि टीम के वो थिंक टैंक खिलाड़ी जो की टीम की सबसे बड़ी शक्ति थे वह पिच को पूरी तरीके से पढ़ नहीं पाए हैं. कहीं ना कहीं विराट कोहली और टीम के कोच गैरी से गलती हुई है कि वह पिच को बिल्कुल भी नहीं देख पाए. जिस पिच के ऊपर 130 का स्कोर विपक्षी टीम से लड़ने के लिए काफी था वहां पर टीम के हर खिलाड़ी के दिमाग में सिर्फ और सिर्फ चौकों और छक्कों की बात चल रही थी.



विराट कोहली से यही गलती हुई है विराट कोहली न जाने क्यों आज पिच को पढ़ने में कामयाब नहीं हो पाए हैं. विराट कोहली को पता होना चाहिए था कि यह पिच बल्लेबाजी के लिए सही नहीं है यहां पर रुककर खेलना होगा और धीमी शुरुआत करना ही बेहतर होगा. खुद विराट कोहली इस पिच के ऊपर शुरू में ही बड़े शॉट खेलते हुए आउट हुए हैं, जिसके बाद टीम के हर खिलाड़ी पर दबाव रहा और टीम का खिलाड़ी स्पिनर्स के आगे हारता हुआ नजर आया है.


हरभजन सिंह, इमरान ताहिर और रविंद्र जडेजा जैसे क्वालिटी स्पिनर खिलाड़ियों के प्रति टीम के हर खिलाड़ी को सम्मान दिखाना चाहिए था लेकिन इन खिलाड़ियों के खिलाफ अटैक करने की विराट कोहली की रणनीति पूरी तरीके से फ्लॉप साबित हुई है और यही कारण है कि इसी कारण से विराट कोहली की टीम आईपीएल 2019 के अंदर पहले ही मैच में मात्र 70 रनों पर ऑल आउट हो गई.

0 Comment

बॉलीवुड से करोड़ों कमाते हैं पाकिस्तानी एक्टर लेकिन अब आईपीएल पर पाकिस्तानी सरकार ने लगाया बैन

पाकिस्तान ने अपने देश के अंदर आईपीएल के प्रसारण पर पूरी तरीके से रोक लगा दी है. आपको बता दें कि भारत और पाकिस्तान के बिगड़ते हुए रिश्तो के बाद पाकिस्तान ने यह कदम उठाया है पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान जो खुद एक क्रिकेट प्रेमी है उनके मार्गदर्शन में यह कदम उठाया गया है. आपको याद होगा कि जब सीमा के ऊपर भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बना हुआ था उस समय भारत में पाकिस्तान प्रीमियर लीग लाइव स्कोर और प्रसारण पर रोक लगा दी गई थी.


आईपीएल पर पाकिस्तानी सरकार ने लगाया बैन


अब कुछ यही काम पाकिस्तान ने किया है क्योंकि वह यह दिखाना चाहता है कि पाकिस्तान प्रीमियर लीग लगने के बाद जो घाटा उसको उठाना पड़ा है कुछ ऐसा ही घाटा इंडियन प्रीमियर लीग को उठाना पड़े. पाकिस्तान के अंदर आईपीएल प्रसारण के अधिकार डीस्पोर्ट्स नाम की एक कंपनी ने लिए थे लेकिन अब कंपनी ने पाकिस्तान ने आईपीएल के प्रसारण से अपने हाथ पीछे खींच लिए हैं.


पाकिस्तानी क्रिकेट बोर्ड से जुड़े हुए अधिकारी फवाद चौधरी ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि पाकिस्तान के अंदर इस बार आईपीएल नहीं दिखाया जाने वाला है. पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद जिस तरीके से भारत के अंदर प्रीमियर लीग के ऊपर रोक लगाई गई थी कुछ उसी तरह पाकिस्तान ने यह रोक लगाई है लेकिन आपको बता दें कि पाकिस्तानी कलाकार भारत में फिल्म और सीरियल के अंदर काम करके करोड़ों की कमाई करते हैं और तब पाकिस्तान को इस कमाई से कोई भी दुख नहीं होता है.


दुख की बात है कि जहां एक तरफ भारत का बॉलीवुड पाकिस्तानी कलाकारों को बुला बुला कर काम देता है तो वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान ने आईपीएल के प्रसारण पर जब बैन लगाया है तब किसी को भी कोई दिक्कत नहीं हो रही हैऔर शायद जब हम पाकिस्तानी कलाकारों को टीवी पर देख रहे होते हैं तब हमें खुद पर शर्म आनी चाहिए.

0 Comment