जानिये किस तारीख से और कहाँ, कब खेली जायेगी भारत बनाम न्यूजीलैंड सीरीज, देखिये पूरा कार्यक्रम

जानिये किस तारीख से और कहाँ, कब खेली जायेगी भारत बनाम न्यूजीलैंड सीरीज, देखिये पूरा कार्यक्रम

भारतीय क्रिकेट टीम जनवरी 2019 में न्यूजीलैंड का दौरा करने वाली है जहाँ पर 5 वनडे और तीन टी-20 मुकाबले खेले जाएंगे. इसके लिए भारतीय टीम की घोषणा कर दी गई है. हालिया समय में भारत ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर है और तीसरा मुकाबला मेलबर्न में खेला जा रहा है जिसमें टीम इंडिया जीत की तरफ आगे बढ़ रही है.


तीसरे टेस्ट के बाद दोनों ही टीमें एक और टेस्ट और अंत में तीन वनडे मुकाबले खेलने वाली है और फिर न्यूजीलैंड का दौरा करेगी. इसमें पहला मुकाबला 23 जनवरी को और आखिरी 10 फरवरी को खेला जाएगा.



यहाँ देखिये वनडे मैचों का पूरा कार्यक्रम


इसी बीच आपको बता दें कि न्यूजीलैंड तथा भारत के बीच 5 वनडे मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला 23 जनवरी को खेला जाएगा. साथ ही नीचे जो समय बताया गया है वो भारतीय समय है.


पहला वनडे मैच, 23 जनवरी 2019, बुधवार- सुबह 07:30 बजे, मैकलीन पार्क, नेपियर, न्यूजीलैंड में खेला जाएगा.


दूसरा वनडे, 26 जनवरी 2019, शनिवार - सुबह 07:30 बजे, बे ओवल, तोरंगा, न्यूजीलैंड.

तीसरा वनडे, 28 जनवरी 2019, सोमवार  सुबह- 07:30 बजे, बे ओवल, तोरंगा, न्यूजीलैंड.


चौथा वनडे, 31 जनवरी 2019, गुरूवार - सुबह 07:30 बजे, सेडॉन पार्क, हैमिल्टन, न्यूजीलैंड.


5वां वनडे, 3 फरवरी 2019, रविवार- सुबह 07:30 बजे, वेस्टपैक स्टेडियम, वेलिंगटन, न्यूजीलैंड.


यहाँ देखिये तीन टी-20 मैचों का कार्यक्रम


पहला टी-20 मैच, 06 फरवरी 2019, बुधवार - दोपहर 12:30 बजे, वेस्टपैक स्टेडियम, वेलिंगटन, न्यूजीलैंड में खेला जाएगा.


दूसरा टी-20 मुकाबला 8 फरवरी 2019, शुक्रवार को - 11:30 पूर्वाह्न, ईडन पार्क, ऑकलैंड, न्यूजीलैंड में खेला जाने वाला है.


तीसरा टी-20 मुकाबला, 10 फरवरी 2019, रविवार - दोपहर 12:30 बजे, सेडॉन पार्क, हैमिल्टन, न्यूजीलैंड में खेला जाएगा.


इस प्रकार दोनों ही टीमों के बीच पांच वनडे और तीन टी-20 मुकाबले खेले जाने वाले है जिसका पहला मुकाबला 23 जनवरी को मैकलीन पार्क नेपियर में भारतीय समय के अनुसार सुबह साढ़े सात बजे से शुरू होगा. वहीं अंतिम मैच 10 फरवरी को सेडॉन पार्क हैमिल्टन में खेला जाएगा जिसका लाइव प्रसारण दोपहर 12:30 से होगा.

0 Comment

विराट कोहली शर्मनाक रिकॉर्ड: साल 2018 में विराट कोहली के नाम दर्ज हुए यह शर्मनाक रिकॉर्ड

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली जिन्होंने लगातार जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए कई बड़े-बड़े रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं. यह साल 2018 में वनडे तथा टेस्ट में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज है. साथ ही यह धीरे-धीरे सचिन तेंदुलकर के 100 शतकों के नजदीक भी पहुंच रहे हैं. बता दें कि इस साल इन्होंने अब तक 10 टेस्ट मैचों में 4 शतक बनाए हैं जबकि वनडे क्रिकेट की अगर बात करें उनके बल्ले से कुल 6 शतक बने हैं.


30 वर्षीय अनुभवी बल्लेबाज विराट कोहली जिनका जन्म 5 नवंबर 1988 में दिल्ली में हुआ था. इन्होंने अपना पहला मैच साल 2008 में 18 अगस्त को श्रीलंका के खिलाफ दांबुला में खेला था. वहीं 3 साल बाद टेस्ट टीम में डेब्यू करने का मौका मिला जबकि 2010 में पहली बार जिंबाब्वे के खिलाफ टी-20 टीम का हिस्सा बने थे. उसके बाद से ही यह लगातार शानदार खेल दिखाते आ रहे हैं.


साल 2018 में विराट कोहली के नाम दर्ज हुए यह शर्मनाक रिकॉर्ड




इसी बीच आपको बता दें कि अनुभवी बल्लेबाज विराट कोहली जिनका 2018 में टी-20 में काफी शर्मनाक प्रदर्शन देखने को मिला है. दरअसल आपको बता दें कि इस साल विराट कोहली ने टी-20 में काफी कम मैच खेलने को मिले है इस कारण यह सिर्फ 146 रन ही बना पाए हैं. इस दौरान बल्लेबाजी औसत महज 24.33 का रहा और इसी कारण इस साल सबसे ज्यादा रन बनाने वालों की सूची में 46वें नंबर पर है. वहीं इस साल अब तक टी-20 प्रारूप में सर्वाधिक रन फखर जमान ने 576 रन बनाये है.


विराट कोहली रिकार्ड्स- टेस्ट और वनडे में किया धमाल


कप्तान विराट कोहली ने इस साल कुल 14 वनडे मैचों में 135.55 की औसत से कुल 1202 रन बनाए हैं और वह पहले नंबर पर बने हुए है. जबकि अगर टेस्ट की बात करें तो 10 मैचों की 18 पारियों में कुल 1063 रन बना चुके हैं. इसमें इनका औसत 59.05 का रहा है लेकिन टी-20 में इनके नाम यह शर्मनाक रिकॉर्ड जरूर दर्ज हुआ है.

0 Comment

क्रिकेट इतिहास का सबसे खतरनाक अंपायर जिसको धीमी मौत बोला गया, ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज फोड़ देना चाहते थे इसका सर

most controversial umpiring decisions- आज के दौर में विश्व भर में क्रिकेट का खुमार इस कदर छाया हुआ है की हर देश का खिलाड़ी अपने गेंदबाजों और बल्लेबाजों को अच्छा प्रदर्शन करते हुए देखना पसंद करते हैं. क्रिकेट जगत में ऐसे कई विवादित घटनाएं हैं जो क्रिकेट को पूरी तरह से शर्मसार कर देती है. उनमें से कुछ तो खिलाड़ियों की कमी से और कोई काम अंपायरों की कमी की वजह से टीम मैच जीते- जीते हार जाती है.

ऐसा ही कुछ सामने आया था एक अंपायर की की वजह से, जो हमेशा से ही भारतीय क्रिकेट टीम को कभी भी जीते हुए देखना पसंद नहीं करता था. वह हमेशा भारतीय टीम के खिलाफ अपना निर्णय गलत ही देता था. वह हमेशा भारतीय टीम के लिए एक खलनायक की भूमिका निभाने में सबसे ऊपर था. आइये आज हम आपको इस अंपायर के 6 ऐसे ही फैसलों के बारें में बताते हैं-

Steve Bucknor most controversial umpiring decisions


स्टीव बकनर अंपायर एक ऐसा अम्पायर था जो अपना निर्णय सुनाने में बहुत ज्यादा देरी करता था लेकिन जब वह अपना निर्णय देता तो विपक्षी टीम के पसीने निकाल देता था. अगर खिलाड़ी आउट नहीं है, तो वह उसे अपने गलत निर्णय की वजह से आउट करार देने में सफल होता. स्टीवन को "धीमी मौत" का खलनायक भी कहा जाता है. वह इतना खतरनाक था कि ऑस्ट्रेलिया के एक बल्लेबाज ने बल्ला उठा कर उन्हें मारने की कोशिश की थी.

1. अगर बात की जाए बनकर के निर्णय कि तो साल 2005 में अफ्रीका के दौरे पर जब वीरेंद्र सहवाग काफी अच्छी फॉर्म में चल रहे थे तो उन्होंने अफ्रीका के गेंदबाज़ की एलबीडब्ल्यू की अपील पर सहवाग को आउट करार दे दिया जबकि वह साफ-साफ नॉट आउट ही प्रतीत हो रहे थे.


2. साल 2003 में जब सचिन तेंदुलकर भी अपनी सबसे अच्छी फॉर्म में थे तो बनकर ने उन्हें जैसन गैलेक्स की अपील पर बड़ी देरी से आउट करार दिया. निर्णय देते समय वह इतने शांत और सहज दिख रहे थे की मानो उनका निर्णय बिल्कुल सही हो और इस मैच में सचिन तेंदुलकर 0 पर आउट होकर पवेलियन की ओर लौट गए.

3. स्टीव बकनर अंपायर का एक विवादित फैसला तब आया जब साल 2006 में फिर से वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत के महान बल्लेबाज तेंदुलकर को एलबीडब्ल्यू की अपील पर स्टीव बकनर अंपायर ने उन्हें आउट करार दे दिया, जिसमें सचिन 12 रन बनाकर आउट हुए थे और इस मैच में वेस्टइंडीज जीत गया था.

4. साल 2008 में बनकर ने भारतीय विश्वकप जिताने वाले कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को भी अपनी अंपायरिंग की खलनायिका को निभाते हुए उन्हें नो बॉल पर आउट करार देकर पवेलियन की राह दिखा दी थी जिससे धोनी उन पर भड़क पड़े थे.



5. वर्ष 2002 में जब भारत के पूर्व बल्लेबाज राहुल द्रविड़ बैटिंग कर रहे थे तो जेम्स हॉप्स गेंद पर बनकर ने उन्हें आउट करार दे दिया था जिस से निराश होकर द्रविड़ ने उन्हें गाली गलौज तक कर डाली.

6. वर्ष 1999  में वैसे आपने खिलाड़ियों से छेड़छाड़ के मामले तो बहुत सुने होंगे लेकिन कभी ऐसा सुना होगा कि अंपायर भी किसी खिलाड़ी के साथ छेड़छाड़ कर सकता है. स्टीव बकनर अंपायर द्रविड़ के साथ यह घिनौनी हरकत कर दी थी, जिससे वह बहुत ही निराश और और खुद को लज्जित महसूस कर रहे थे.

यह भी जरूर पढ़ें

आईपीएल में सिक्स मारने पर खिलाड़ियों को कितने पैसे मिलते हैं, जानिए बल्लेबाज को कितने सारे लाखों रुपैय मिलते हैं

धोनी की 5 अच्छी आदतें जिसके चलते भारत का बच्चा-बच्चा करता है महेंद्र सिंह धोनी से बेपनाह प्यार

यह इतिहास का ऐसा अंपायर हुआ हैं जिसके बारे में सुनकर ही भारतीय क्रिकेटरों को गुस्सा आ जाता है. स्टीव बकनर अंपायर के इन फैसलों की आलोचना आज तक होती है. ऐसा कुछ एक बार ऑस्ट्रेलियन टीम के साथ किया गया तो ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी अंपायर बकनर को बल्ला दिखाकर डराते हुए नजर आये थे. यह दृश्य 1998 में इंग्लैंड के खिलाफ देखने में आया था.

0 Comment

साल 2018 में शिखर धवन अब तक बना चुके है इस साल ये 3 धमाकेदार रिकॉर्ड्स, आपको इन रिकार्ड्स की जानकारी नहीं होगी

shikhar dhawan records, भारतीय क्रिकेट टीम में शिखर धवन जो पिछले कुछ समय से एक शानदार ओपनर बल्लेबाज बन कर उभरे हैं. इन से पूर्व सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग जैसी जोड़ी थी वैसे ही अब धवन और रोहित शर्मा की जोड़ी है जो वनडे और टी-20 में लगातार साथ निभाते हुए देखे जा सकते हैं. इस वर्ष बाएं हाथ के अनुभवी बल्लेबाज धवन ने काफी जबरदस्त प्रदर्शन किया है.


इस तरह आज हम बात करने वाले हैं कि अब तक साल 2018 में इस अनुभवी क्रिकेटर ने कौन-कौन से रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं, तो आइए डालते हैं एक नजर.


साल 2018 में शिखर धवन के 3 रिकार्ड्स | Shikhar dhawan records





1. टेस्ट में हासिल किया यह मील का पत्थर


बाएं हाथ के अनुभवी बल्लेबाज शिखर धवन जो अब तक 34 टेस्ट मैच भारतीय टीम के लिए खेल चुके हैं. इस दौरान उनके बल्ले से कुल 7 शतक और 5 अर्धशतक बने जिसके चलते उन्होंने कुल 2315 रन बनाए हैं. वहीं आपको बता दें कि 2000 टेस्ट रन इन्होंने इसी साल पूरे किये है. साथ ही इस दौरान इनका बल्लेबाजी औसत कुल 40.61 का रहा है जो कि बहुत शानदार है.




2. टी-20 इंटरनेशनल में पूरे किए 1000 रन


दिल्ली के शानदार अनुभवी बल्लेबाज शिखर धवन जिन्होंने साल 2018 में अपने टी-20 इंटरनेशनल करियर के 1000 रन भी पूरे कर दिए हैं. बता दें कि अब तक कुल 42 मुकाबलों में शानदार प्रदर्शन करते हुए 1023 रन बनाए हैं जिसमें इनके सात अर्धशतक शामिल हैं. धवन का अब तक का बेस्ट स्कोर 90 रन है.




3. सहवाग और यूवी को पीछे छोड़ा


भारतीय क्रिकेट टीम में वनडे प्रारूप में सबसे अधिक शतक सचिन तेंदुलकर के नाम है जिन्होंने 49 सैकड़े अपने नाम किए थे. इसके बाद वर्तमान कप्तान विराट कोहली हैं जिन्होंने अब तक 38 बार सौ से अधिक रन बनाए हैं. वही बाएं हाथ के बल्लेबाज धवन ने इस वर्ष अच्छा प्रदर्शन करते हुए युवराज सिंह (14) और वीरेंद्र सहवाग (15) को पछाड़ते हुए शतकों के मामले में आगे निकल गए हैं. धवन के भी अभी कुल 15 शानदार शतक है.


इस प्रकार गब्बर के नाम से लोकप्रिय दिल्ली के इस शानदार बाएं हाथ के बल्लेबाज ने अब तक अपने करियर में जबरदस्त प्रदर्शन किया है और आशा यही है कि 2019 के विश्व कप में भी अच्छा खेल दिखाएँगे.


1 Comments

diwakar
great Shikhar Dhawan, your are really nice batsman
0000-00-00 00:00:00