धोनी ने अचानक दिए सन्यास के संकेत, पक्के सबूत कल रांची में आखरी वनडे खेल रहे हैं महेंद्र बाहुबली धोनी

धोनी ने अचानक दिए सन्यास के संकेत, पक्के सबूत कल रांची में आखरी वनडे खेल रहे हैं महेंद्र बाहुबली धोनी

भारत और आस्ट्रेलिया के बीच में कल रांची के मैदान पर तीसरा वनडे मैच होने जा रहा है। साथ ही साथ देश के कई मुख्य न्यूज़ चैनल इस तरह की खबर चला रहे हैं कि कल रांची में है धोनी की विदाई की तैयारी की जा रही है। मेजबान भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाला तीसरा एकदिवसीय मैच रांची में 8 मार्च को खेला जायेगा।


यह मैच रांची के जेएससीए स्टेडियम (JSCA Stadium) में होगा। जो महेंद्र सिंह धोनी का घरेलू मैदान भी है। धोनी रांची में अब तक तीन वनडे मैच खेल चुके है और शुक्रवार को धोनी रांची में अपना चौथा वनडे मैच खेलेंगे। वैसे अभी तक रांची में चार मैच मैच हुए हैं लेकिन एक मैच रद्द हो गया है।




महेंद्र सिंह धोनी का आखरी वनडे मैच


यह माना जा रहा है की रांची में धोनी का यह आखरी वनडे मैच हो सकता है। इसी वजह से झारखण्ड राज्य क्रिकेट एसोसिएशन ने महेंद्र सिंह धोनी को अंतिम विदाई देनी की तैयारी कर ली है। धोनी अब विश्वकप 2019 के बाद सन्यास के संकेत देते हुए नजर आ रहे हैं। रांची के अंदर धोनी का यह आखरी अंतर्राष्ट्रीय मैच साबित हो सकता है।


झारखण्ड राज्य क्रिकेट एसोसिएशन ने महेंद्र सिंह धोनी के नाम पर एक पवेलियन  का नामकरण भी कर दिया है। मगर महेंद्र सिंह धोनी ने उद्घाटन करने से मना कर दिया है। धोनी का ब्यान है कि कोई अपने ही घर में कोई उदघाटन करता है क्या? यह बात कहकर धोनी ने अपने चाहने वालो को अपना मुरीद तो बना ही दिया। अब शुक्रवार को रांची मे उनके प्रशंसक उम्मीद कर रहे है की वो चौकों और छको से उनका मनोरंजन करेंगे।




महेंद्र सिंह धोनी ने कितने वनडे मैच खेले हैं


अपने 15 साल के क्रिकेट करियर में धोनी 340 मैच खेल चुके हैं, पर यह एक संयोग ही है की महेंद्र सिंह धोनी ने रांची में सिर्फ तीन ही मैच खेले। जिसमे एक बार भारत जीता और एक बार भारत को हार का सामना करना पड़ा।


टेस्ट क्रिकेट से महेंद्र सिंह धोनी चार साल पहले ही सन्यास ले चुके है, ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा है कि वर्ल्डकप के बाद धोनी इंटरनेशनल क्रिकेट से सन्यास ले सकते हैं। महेंद्र सिंह धोनी ने रांची में सिर्फ 21 रन ही बनाये हैं। ऐसे में उम्मीद है की धोनी यहाँ अपना बेहतरीन प्रदर्शन करके इस पारी को यादगार बनायेंगे।

0 Comment

जानिये कौन था वह बल्लेबाज जिसने लगाई थी क्रिकेट इतिहास की पहली सेंचुरी, नाबाद 165 रन बनाए थे

क्रिकेट इतिहास की पहली सेंचुरी- क्रिकेट इतिहास में सबसे ज्यादा शतक लगाने का रिकॉर्ड भारत के शानदार पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के नाम है जिन्होंने 51 टेस्ट में और 49 वनडे क्रिकेट में शतक लगाए थे। अर्थात कहे तो इन्होंने पूरे सौ अंतरराष्ट्रीय शतक लगाए। लेकिन आपको यह पता नहीं है कि आखिर पहली बार किस बल्लेबाज ने शतक बनाया था और उस दौरान उस बल्लेबाज ने कितने रन बनाए और किस टीम के खिलाफ वह मुकाबला खेला गया था तो आज हम इसी के बारे में आपको बताने वाले हैं तो चलिए आरंभ करते हैं।


तो जानकारी के लिए आपको बता दें कि क्रिकेट जगत में पहला शतक बनाने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर चार्ल्स बैनरमैन के नाम है। जिनका जन्म 3 जुलाई 1851 को इंग्लैंड में हुआ था जबकि 20 अगस्त 1930 को इन्होंने आखिरी सांस ली।



अगर हम पहले शतक की बात करें तो इन्होंने अपने पहले ही मुकाबले में नाबाद 165 रन बनाए थे। यह मुकाबला 15 मार्च 1877 को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला गया था। जिसमें ऑस्ट्रेलिया के इस बल्लेबाज ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 165 रनों की नाबाद पारी खेली थी।


इस पारी में बैनरमैन रिटायर्ड हर्ट हुए थे। जबकि पारी में कुल 285 गेंदों का सामना किया और 18 चौके भी लगाए थे। इस मैच के रिजल्ट की बात करें तो आस्ट्रेलियाई टीम ने अच्छा प्रदर्शन करते हुए 45 रनों से जीता था।


हालांकि उनका करियर लंबा नहीं गया और सिर्फ तीन ही टेस्ट मैच अपने पूरे जीवन में खेल पाये। बैनरमैन जिन्होंने 1877 में डेब्यू करते हुए शतक बनाया और आखिरी बार 1879 में इंग्लैंड के खिलाफ ही मैच खेला था। पूरे करियर के इन तीन मैचों में इनके बल्ले से 59.75 की औसत से 239 रन बने।


जबकि आज हालिया समय में भारतीय क्रिकेट टीम के वर्तमान कप्तान विराट कोहली जो लगातार शानदार प्रदर्शन करते हुए शतक पर शतक बनाये जा रहे है और सचिन के 100 शतकों का रिकॉर्ड भी तोड़ सकते है।


यह भी जरूर पढ़ें- इस बल्लेबाज ने बनाया था टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में पहला शतक, 6,6,6,6,6,6,6,6,6 10 छक्के और 7 चौकों से बनाया था रिकॉर्ड

0 Comment

2007 cricket world cup final scorecard | 2007 क्रिकेट विश्व कप के रोमांचक फाइनल मुकाबले की हाइलाइट्स

कब हुआ था 2007 का आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप | When was the 2007 ICC Cricket World Cup


2007 का विश्व कप मार्च 14 से अप्रैल 27, 2007 में खेला गया था. वेस्टइंडीज के अंदर इस विश्व कप का आयोजन हुआ था और इस विश्वकप को ऑस्ट्रेलिया ने श्रीलंका को हराकर अपने नाम कर लिया था. इस विश्व कप में कुल 51 मैच हुए थे. ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका 2007 के विश्व कप में सेमीफाइनल में खेलते हुए नजर आए थे.


2007 विश्वकप में भारतीय क्रिकेट टीम | Indian Cricket Team in World cup 2007


भारतीय क्रिकेट टीम पहले ही राउंड से बाहर हो गई थी. इंडियन टीम के लिए 2007 का यह समय काफी खराब चल रहा था. टीम में अंदरूनी कलह थी जिसके चलते टीम पहले ही दौर में हारकर बाहर हो गई थी. टीम इण्डिया के कई सीनियर खिलाड़ीभी आपस में लड़तेहुए नजर आ रहे थे.



ग्रुप ए में ऑस्ट्रेलिया, साउथ अफ्रीका, नीदरलैंड और स्कॉटलैंड थे, ग्रुप बी में श्रीलंका, बांग्लादेश, भारत और बरमुडा थे, ग्रुप सी में न्यूजीलैंड, इंग्लैंड, केन्या और कनाडा थे, ग्रुप डी की बात करें इस ग्रुप में वेस्टइंडीज, आयरलैंड, पाकिस्तान और कनाडा थे. तो आइये हम आपको 2007 के फाइनल मैच का हाल बताते हैं और इस मैच का स्कोर कार्ड दिखाते हैं, 2007 cricket world cup final scorecard



2007 cricket world cup winner | कौन जीता था 2007 क्रिकेट वर्ल्ड कप


क्रिकेट विश्व कप 2007 जो कि दक्षिण अफ्रीका में खेला गया था. इस टूर्नामेंट में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य कोच बॉब वूल्मर का भी अचानक दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था. साथ ही भारत जैसी बड़ी टीम एकदम फ्लॉप होते हुए शुरुआत में ही बाहर हो गयी और फिर बाकी टीमों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए खूब मनोरंजित किया था. आज हम बताने वाले हैं आपको उस टूर्नामेंट के फाइनल मैच के बारे में जिसमें ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका की टीमें आमने-सामने थी.


2007 विश्वकप फाइनल मैच स्कोरकार्ड | 2007 वर्ल्ड कप फाइनल मैच


1st innings Australia Cricket Team

Player

Status

Runs

Balls

4s

6s

Adam Gilchrist

c Silva b Fernando

149

104

13

8

Matthew Hayden

c Jayawardene b Malinga

38

55

3

1

Ricky Ponting

run out (Jayawardene)

37

42

1

1

Andrew Symonds

not out

23

21

2

0

Shane Watson

b Malinga

3

3

0

0

Michael Clarke

not out

8

6

1

0

Mike Hussey






Brad Hogg






Nathan Bracken






Shaun Tait






Glenn McGrath






Total

(4 wickets; 38 overs)

281





आस्ट्रेलियन टीम की बल्लेबाजी- मैच में ऑस्ट्रेलिया में पहले बल्लेबाजी करते हुए 38 ओवर में 4 विकेट पर 281 रन बनाए थे जिसमें एडम गिलक्रिस्ट ने सबसे ज्यादा 149 रनों की पारी खेली. वहीं मैथ्यू हेडन ने 38 और रिकी पोंटिंग ने 37 रन बनाए. यह मैच में बारिश के कारण 38 ओवर का रखा गया था. इसके बाद श्रीलंका की पारी को 36 ओवर मिले थे बल्लेबाजी के लिए. वहीं गेंदबाजी में श्रीलंका की तरफ से लसिथ मलिंगा ने 8 ओवर में 49 रन देकर दो विकेट लिए. जबकि दिलहारा फर्नांडो ने 8 ओवर में 74 रन देकर महज एकमात्र विकेट लिया.


2nd innings Sri lanka Cricket team


Player

Status

Runs

Balls

4s

6s

Upul Tharanga

c Gilchrist b Bracken

6

8

1

0

Sanath Jayasuriya

b Clarke

63

67

9

0

Kumar Sangakkara

c Ponting b Hogg

54

52

6

1

Mahela Jayawardene

lbw b Watson

19

19

1

0

Chamara Silva

b Clarke

21

22

1

1

Tillakaratne Dilshan

run out (Clarke/McGrath)

14

13

2

0

Russel Arnold

c Gilchrist b McGrath

1

2

0

0

Chaminda Vaas

not out

11

21

0

0

Lasith Malinga

st Gilchrist b Symonds

10

6

0

1

Dilhara Fernando

not out

1

6

0

0

Muttiah Muralitharan






Total

(8 wickets; 36 overs)

215





ऐसी रही थी श्रीलंका की पारी- जीत हासिल करने उतरी श्रीलंका की पारी की बात करें तो उपुल थरंगा और सनत जयसूर्या ने ओपनिंग की लेकिन थरंगा जो 7 रन के स्कोर पर आउट हो गए. लेकिन इसके बाद सनत जयसूर्या और कुमार संगकारा के बीच 116 रनों की शानदार भागीदारी हुई और ऐसा लग रहा था कि मुकाबला लंका जीत सकती है. लेकिन इसके बाद लगातार विकेट गिरते रहे और 36 ओवर में 8 विकेट पर 215 रन ही बना पाई. इस प्रकार बारिश की वजह से लंका को इस मैच में 53 रनों से हार झेलनी पड़ी. अगर हम गेंदबाजी की बात करें तो ऑस्ट्रेलिया की तरफ से इस मैच में माइकल क्लार्क ने सबसे अधिक 5 ओवर में 33 रन देकर दो विकेट लिए.


क्रिकेट विश्व कप में ऑस्ट्रेलियाई टीम का यह चौथा खिताब था जो इन्होंने श्रीलंका को हराकर जीता. इस पूरे टूर्नामेंट में सबसे अधिक रन मैथ्यू हेडन ने बनाए और सबसे अधिक विकेट ग्लेन मैकग्राथ ने लिए थे.

0 Comment

विराट कोहली अपनी फिटनेस को लेकर इतने सीरियस हैं कि अपने कोच के घर जाने पर खाने को लेकर कोच से लड़ने लगे थे

विराट कोहली की फिटनेस का राज, टीम इंडिया वर्तमान में सबसे फिट टीमो में से एक हैं. टीम में फिटनेस को लेकर पूर्व कप्तान एमएस धोनी ने काफी मेहनत की हैं, हालाँकि धोनी के कप्तानी छोड़ने के बाद विराट कोहली ने इस परंपरा को बखूबी निभाया हैं.

विराट कोहली खुद दुनिया के सबसे फिट खिलाडियों में से एक हैं. यही कारण है कि बल्लेबाजी के दौरान उन्हें बड़ी पारी खेलने में कोई भी परेशानी नहीं होती हैं. हालाँकि एक समय ऐसा भी था, जब कोहली अपनी फिटनेस को लेकर इतने सीरियस नहीं थे.



बाहर का खाना नहीं है कोहली को पसंद | विराट कोहली की फिटनेस टिप्स


टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने पिछले कुछ समय में अपनी फिटनेस पर काफी ध्यान दिया हैं. कोहली ने फिटनेस को मह्त्व को समझते हुए खुद के खान-पान पर काफी नियंत्रण रखा हुआ हैं. कोहली बाहर का खाना खाना बिल्कुल भी पसंद नहीं करते हैं. यहाँ तक कि कोहली ने अब माँ के साथ का पसंद चिकन और मटन खाना भी बेहद कम कर दिया हैं.

विराट कोहली एक समय चाइनिस और जैपनिस खाने के बड़े शौक़ीन हुआ करते थे, लेकिन खुद को फिट रखने के लिए कोहली ने इन सब चीजों को त्याग दिया हैं. विराट कोहली जिस पानी का इस्तेमाल करते हैं उसका नाम भी water evian है.   

जब कोच का घर का खाना खाने से कोहली ने कर दिया था मना


बचपन से विराट कोहली बटर चिकन, रोल्स और अन्य फ़ास्ट फ़ूड के बड़े शौक़ीन हुआ करते थे, लेकिन अब वह अपनी फिटनेस को लेकर काफी वफादार हैं. विराट कोहली के शुरूआती कोच राज कुमार शर्मा ने एक बार बताया था कि किस तरह कोहली ने उन्हें घर का खाना खाने से मना कर दिया था.

कोच राज कुमार ने बताया, “वर्ष 2013 में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध घरेलू सीरीज के दौरान कोहली मेरे साथ दिल्ली में थे. इस दौरान उन्होंने मेरे घर का रेड मीट खाने मना कर दिया था. कोहली ने हँसते हुआ कहा था कि वह अपनी फिटनेस पर काफी मेहनत कर रहे हैं.”

विराट कोहली मीट के बड़े दीवाने हुआ करते थे. जिस कारण कोहली के मना करने के बाद कोच राज कुमार काफी हैरान रह गए थे, लेकिन वह इस बात से काफी खुश थे कि वह अपनी फिटनेस को लेकर कितने वफादार हैं.

0 Comment