ओपिनियन पोल- क्या दक्षिण अफ्रीका से तीसरा टेस्ट हारने पर कप्तान कोहली को खुद इन्डियन टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ देनी चाहिए?

ओपिनियन पोल- क्या दक्षिण अफ्रीका से तीसरा टेस्ट हारने पर कप्तान कोहली को खुद इन्डियन टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ देनी चाहिए?

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीसरा टेस्ट मैच आज 24 जनवरी से जोहांसबर्ग में शुरू हो रहा है. भारतीय क्रिकेट टीम के पास अब खोने के लिए कुछ भी नहीं बचा है. पहले ही इंडियन टीम सीरीज के दोनों टेस्ट मैच हार चुकी है और 2018 का पहला विदेशी दौरा भी हाथ से निकल चुका है. ऐसे में अब इंडियन टीम का ध्यान अंतिम टेस्ट मैच को जीत कर या फिर ड्रॉ करके अपनी कुछ बची हुई इज्जत को बचाने पर होगा.


वहीं दूसरी तरफ कप्तान कोहली जिनके ऊपर तीसरे टेस्ट मैच में काफी दबाव रहने वाला है और वह इस टेस्ट मैच में बेहतर प्रदर्शन करने की पुरजोर कोशिश करने वाले हैं. इंडियन क्रिकेट टीम ने जोहांसबर्ग क्रिकेट मैदान पर काफी अच्छा प्रदर्शन किया है. वहीं कप्तान कोहली और चेतेश्वर पुजारा का अभी जो इस क्रिकेट मैदान पर कुछ खास ही रिकॉर्ड रहा है.

ऐसे में इस लेटेस्ट मैच में भी कप्तान कोहली और चेतेश्वर पुजारा का ध्यान अच्छा प्रदर्शन करके टीम इंडिया को जीत दिलाने पर होगा. लेकिन अब विराट कोहली की कप्तानी पर भी उंगलियाँ उठने लगी हैं. क्या कप्तान विराट कोहली को छोड़ देनी चाहिए टेस्ट कप्तानी-भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीसरा टेस्ट मैच


भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीसरा टेस्ट मैच


जरुर दें आप अपना जवाब

लगातार देशी और विदेशी कई सीनियर खिलाड़ी विराट कोहली की कप्तानी पर सवालिया निशान खड़े कर रहे हैं. कप्तान कोहली ने पिछले कुछ 30 टेस्ट मैचों में जिस तरीके से टीम में बदलाव किए हैं और लगातार लगभग हर टेस्ट मैच में बदली हुई टीम उतारी है, उसके बाद विराट कोहली की कप्तानी पर सवाल उठने लगे हैं. अगर कोई कप्तान लगातार अपनी टीम बदल रहा है तो इसका अर्थ यही होगा कि उसका विश्वास टीम पर नहीं बन पा रहा है.


भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीसरा टेस्ट मैच





कोहली का ऐसा मानना है कि बेशक उन्होंने 30 टेस्ट मैचों में कितनी भी बदलाव किए हैं लेकिन उनकी टीम को जीत मिलती रही है. लेकिन आपको याद दिला दें कि भारतीय क्रिकेट टीम पिछले कुछ डेढ़ सालों से भारत के अंदर ही खेल रही है और साल 2018 में दक्षिण अफ्रीका का यह दौरा कुछ पिछले 2 सालों का सबसे मुश्किल दौर आ रहा है और पहली ही विदेशी दौरे में टीम इंडिया को टेस्ट सीरीज हार का सामना करना पड़ा है.


भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीसरा टेस्ट मैच

कप्तान विराट कोहली की टेस्ट कप्तानी के ऊपर सवाल उठने लगे हैं. हर कोई जानना चाहता है कि क्या वाकई कप्तान विराट कोहली टेस्ट टीम के कप्तान बनने के लायक हैं? 30 में से कुछ 28 टेस्ट मैच इंडियन क्रिकेट टीम भारत और उपमहाद्वीप में खेली है. लगातार श्रीलंका के साथ बैक टू बैक सीरीज खेली है.  और और जिस तरीके की कमजोर टीम के साथ इंडियन टीम खेली है उसको आप जीत नहीं मान सकते हैं.

तो ऐसे में आप यह कमेंट करके बताएं कि क्या वाकई कप्तान विराट कोहली को इंडियन टेस्ट टीम का कप्तान बनने बने रहने देना चाहिए या फिर कप्तान कोहली की जगह पर अजिंक्या रहाणे जैसे धैर्यवान खिलाड़ी को कप्तान बनाना चाहिए. आपके जवाबों का हमको इन्तजार रहने वाला है.

0 Comment

सुरेश रैना को गन्दी बीमारी- इसको कर दिया रैना ने खुद से दूर तो बना देंगे फाइनल में देखना पक्का 30 गेंद पर धमाकेदार 100 रन वाला शतक

Suresh Raina Batting- भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच में चल रही टी20 सीरीज अब इस बार पहले से ज्यादा रोमांचक हो गयी है. अब सीरीज 1 और 1 की बराबरी पर आ गई है. शुरू में ऐसा लग रहा था कि जैसे इंडियन टीम बड़ी आसानी से ट्वेंटी-20 सीरीज को भी जीत लेगी. लेकिन दक्षिण अफ्रीका ने एक शानदार पलटवार करके यह दिखा दिया है कि दक्षिण अफ्रीका अभी भी ट्वेंटी 20 के फॉर्मेट में इतनी कमजोर टीम नहीं है कि भारत उसको इतनी आसानी से हरा देगा.

दक्षिण अफ्रीका के पास इस समय क्लासेन जैसा एक शानदार खिलाड़ी है जो मात्र 2 से 3 ओवर में ही पूरा मैच पलट सकता है. दूसरे ट्वेंटी-20 मैच में क्लासेन ने ही जैसे की मैच दक्षिण अफ्रीका की झोली में डाल दिया था. जब यह बल्लेबाज आउट हुआ तो तब तक तो मैच का कि जैसे कि पलट गया था. इन्डियन टीम के पास रैना जैसा शानदार खिलाड़ी मौजूद है लेकिन रैना शानदार शुरुआत को ज्यादा अच्छा बना नहीं पा रहे हैं. तो आइये आपको हम सुरेश रैना की एक ऐसी बीमारी के बारें में बताते हैं जो रैना को अभी भी परेशान कर रही है- Suresh Raina Batting


Suresh Raina Batting

दूसरे ट्वेंटी-20 मैच में सुरेश रैना की बात करें तो वह भी अच्छा रन बनाते हुए नजर आए थे. रैना अभी तक दोनों नहीं मैच में अच्छा रन बनाते हुए दिखे तो जरूर है लेकिन उस अच्छी शुरुआत को यह बल्लेबाज अभी तक बड़े स्कोर में कन्वर्ट नहीं कर पाए हैं.


Suresh Raina Batting





रैना शायद से बात जानते होंगे कि वह दोनों मैच में किस तरह की गलती करके आउट हुए हैं. आपको बता दें कि सुरेश रैना गेंद के आने से पहले ही दो से तीन कदम आगे निकल आते हैं. छोटे-छोटे से कदम जब रैना विकेट के सामने लाते हैं तो वह गेंदबाज के गेंद डालने से पहले ही विकेट्स के सामने आ जाते हैं. तब विपक्षी गेंदबाज या तो उनके पैरों पर वार करता है या फिर गेंद को सीधा विकेट्स पर देता है क्योंकि रैना के दोनों कदम इस समय विकेट के सामने होते हैं.

Suresh Raina Batting


ऐसा नहीं है कि सुरेश रैना इस गलती को पहली बार दोहरा रहे हैं. इससे पहले भी टीम से आउट होने से पहले आपको याद हो तो रैना इसी तरह से बार-बार यही गलती कर रहे थे. जब रैना विकेट के सामने होते हैं और गेंद मिस करते हैं तो उनके एलबीडबल्यू की संभावना ज्यादा होती हैं.

विपक्षी टीम के गेंदबाज सुरेश रैना को उनके पैरों के पीछे से बोल्ड आउट भी पहले ज्यादा करने लगे थे. अभी अगर रैना अपनी इस गलती पर काम कर लें तो निश्चित रूप से इनके अंदर अभी इतना सारा क्रिकेट है कि   वह 20 गेंद पर अर्द्धशतक तो लगा ही सकते हैं.

0 Comment

ओपिनियन पोल- क्या दक्षिण अफ्रीका से तीसरा टेस्ट हारने पर कप्तान कोहली को खुद इन्डियन टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ देनी चाहिए?

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीसरा टेस्ट मैच आज 24 जनवरी से जोहांसबर्ग में शुरू हो रहा है. भारतीय क्रिकेट टीम के पास अब खोने के लिए कुछ भी नहीं बचा है. पहले ही इंडियन टीम सीरीज के दोनों टेस्ट मैच हार चुकी है और 2018 का पहला विदेशी दौरा भी हाथ से निकल चुका है. ऐसे में अब इंडियन टीम का ध्यान अंतिम टेस्ट मैच को जीत कर या फिर ड्रॉ करके अपनी कुछ बची हुई इज्जत को बचाने पर होगा.


वहीं दूसरी तरफ कप्तान कोहली जिनके ऊपर तीसरे टेस्ट मैच में काफी दबाव रहने वाला है और वह इस टेस्ट मैच में बेहतर प्रदर्शन करने की पुरजोर कोशिश करने वाले हैं. इंडियन क्रिकेट टीम ने जोहांसबर्ग क्रिकेट मैदान पर काफी अच्छा प्रदर्शन किया है. वहीं कप्तान कोहली और चेतेश्वर पुजारा का अभी जो इस क्रिकेट मैदान पर कुछ खास ही रिकॉर्ड रहा है.

ऐसे में इस लेटेस्ट मैच में भी कप्तान कोहली और चेतेश्वर पुजारा का ध्यान अच्छा प्रदर्शन करके टीम इंडिया को जीत दिलाने पर होगा. लेकिन अब विराट कोहली की कप्तानी पर भी उंगलियाँ उठने लगी हैं. क्या कप्तान विराट कोहली को छोड़ देनी चाहिए टेस्ट कप्तानी-भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीसरा टेस्ट मैच


भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीसरा टेस्ट मैच


जरुर दें आप अपना जवाब

लगातार देशी और विदेशी कई सीनियर खिलाड़ी विराट कोहली की कप्तानी पर सवालिया निशान खड़े कर रहे हैं. कप्तान कोहली ने पिछले कुछ 30 टेस्ट मैचों में जिस तरीके से टीम में बदलाव किए हैं और लगातार लगभग हर टेस्ट मैच में बदली हुई टीम उतारी है, उसके बाद विराट कोहली की कप्तानी पर सवाल उठने लगे हैं. अगर कोई कप्तान लगातार अपनी टीम बदल रहा है तो इसका अर्थ यही होगा कि उसका विश्वास टीम पर नहीं बन पा रहा है.


भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीसरा टेस्ट मैच





कोहली का ऐसा मानना है कि बेशक उन्होंने 30 टेस्ट मैचों में कितनी भी बदलाव किए हैं लेकिन उनकी टीम को जीत मिलती रही है. लेकिन आपको याद दिला दें कि भारतीय क्रिकेट टीम पिछले कुछ डेढ़ सालों से भारत के अंदर ही खेल रही है और साल 2018 में दक्षिण अफ्रीका का यह दौरा कुछ पिछले 2 सालों का सबसे मुश्किल दौर आ रहा है और पहली ही विदेशी दौरे में टीम इंडिया को टेस्ट सीरीज हार का सामना करना पड़ा है.


भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीसरा टेस्ट मैच

कप्तान विराट कोहली की टेस्ट कप्तानी के ऊपर सवाल उठने लगे हैं. हर कोई जानना चाहता है कि क्या वाकई कप्तान विराट कोहली टेस्ट टीम के कप्तान बनने के लायक हैं? 30 में से कुछ 28 टेस्ट मैच इंडियन क्रिकेट टीम भारत और उपमहाद्वीप में खेली है. लगातार श्रीलंका के साथ बैक टू बैक सीरीज खेली है.  और और जिस तरीके की कमजोर टीम के साथ इंडियन टीम खेली है उसको आप जीत नहीं मान सकते हैं.

तो ऐसे में आप यह कमेंट करके बताएं कि क्या वाकई कप्तान विराट कोहली को इंडियन टेस्ट टीम का कप्तान बनने बने रहने देना चाहिए या फिर कप्तान कोहली की जगह पर अजिंक्या रहाणे जैसे धैर्यवान खिलाड़ी को कप्तान बनाना चाहिए. आपके जवाबों का हमको इन्तजार रहने वाला है.

0 Comment

2019 के वर्ल्डकप में भारत और पाकिस्तान के इसलिए हो सकते हैं दो मुक़ाबले

2019 वर्ल्डकप- 2019 का वर्ल्डकप इंग्लैंड में ही होना है. इंग्लैंड और वेल्स में अभी कुछ ही समय पहले चैम्पियन ट्राफ़ी का आयोजन हुआ था और यहाँ हुए मुक़ाबलों में पाकिस्तान ने सभी को आश्चर्य में डालकर चैम्पियन ट्राफ़ी पर क़ब्ज़ा कर लिया था.

इस चैम्पियन ट्राफ़ी के अंदर आयोजकों को दो मुक़ाबलों से काफ़ी फ़ायदा हुआ था. भारत और पाकिस्तान के बीच हुए पहले मैच के अंदर चैम्पियन ट्राफ़ी की सभी टिकट काफ़ी पहले ही बिक चुके थे. इसके बाद जब दोनों टीम में फ़ाइनल तय हुआ तो जैसे टिकट के दाम आसमान छूने लगे थे. आयोजकों को इन दोनों मैच से काफ़ी फ़ायदा हुआ था. 2019 वर्ल्डकप


2019 वर्ल्डकप

ऐसे में एक बार फिर से ऐसा हो सकता है कि आने वाले वर्ल्डकप के अंदर भारत और पाकिस्तान का मुक़ाबला एक बार फिर से ग्रुप मुक़ाबलों में करा दें और इसके बाद आगे चलकर भारत और पाकिस्तान फिर से फ़ाइनल में लड़ते हुए देखे जा सकते हैं. आयोजकों को ऐसा लगता है कि इस बार के मुक़ाबलों में पहले से ज़्यादा मुनाफ़ा हो सकता है. भारत को पाकिस्तान से बदला लेना है और ऐसे में अगर इस बार पहले मैच में जमकर भीड़ मैच देखने आ जाएगी. ऐसा इसलिए भी है कि आयोजकों को इतना फ़ायदा पूरे टूर्नामेंट से नहीं होता है जितना अकेले भारत-पाक के मुक़ाबलों से हो जाते हैं.


2019 वर्ल्डकप  

  • अभी होने हैं क्वालिफ़ाई मुक़ाबले
वहीं वर्ल्डकप के लिए क्वालिफ़ाई मुक़ाबले भी साल 2018 में होने हैं. अभी आईसीसी की रैंकिंग की टॉप 7 टीम तो विश्वकप के लिए क्वालिफ़ाई कर चुकी हैं लेकिन विश्व की एक बड़ी टीम वेस्टइंडीज़ को इस बार का विश्वकप खेलने के लिए पहले क्वालिफ़ाई मुक़ाबले खेलने होंगे. वहीं अभी अफ़ग़ानिस्तान के साथ-साथ जिंबाब्बे भी क्वालिफ़ाई मुक़ाबलों में टक्कर पेश कर सकती हैं.  


लेकिन असली रोमांच तो इसी बात में है कि इस बार वर्ल्डकप के अंदर भारत-पाक के बीच कितने मुक़ाबले होने वाले हैं. अभी तक सभी यही उम्मीद कर रहे हैं कि भारत और पाकिस्तान को एक ही ग्रुप में रखकर वर्ल्ड के आयोजक शुरू में ही इतने बड़े टूर्नामेंट के अंदर रोमांच पैदा कर सकते हैं.


  यह भी ज़रूर पढ़ें-      

0 Comment