सर्वाइकल दर्द क्या होता है और कमर दर्द और सर्वाइकल पेन से बचे रहने के लिए 5 बेहतरीन योगासन

सर्वाइकल दर्द क्या होता है और कमर दर्द और सर्वाइकल पेन से बचे रहने के लिए 5 बेहतरीन योगासन

सर्वाइकल दर्द क्या होता है, आम लोगों की सबसे बड़ी समस्या यह है कि वह किसी भी चीज को ज्यादा गंभीर तरीके से सोचना पसंद नहीं करते हैं. अपने बिजी लाइफ के कारण वह अपने शरीर के बारे में ठीक तरीके से सोच नहीं पाते. कैसे बैठना और उठना चाहिए यह बहुत कम लोग ध्यान देते हैं. जिससे आज कई सारे शारीरिक दर्द उत्पन्न हो रहे हैं. इस दर्द में कमर दर्द, पीठ दर्द, गर्दन दर्द, और रीड की हड्डी का दर्द भी शामिल हैं. हम आपको बता दें कि आप के अा सामान्य ढंग से बैठना उठना या चलने पर आपको कई सारी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है. आमतौर पर लोग इस पर ज्यादा ध्यान नहीं देते. जिससे आपको आगे नुकसान पहुंचा सकता है.

इस तरह की चीजों पर ध्यान ना देने से आपकी तकलीफ बढ़ सकती है. इसलिए जरूरी है कि आप इसे गंभीर रूप से सोचें और इस पर काम करें. आज के आर्टिकल में हम आपको कुछ ऐसे आसान योगासन बताएंगे जिससे आपका यह प्रॉब्लम बहुत आसानी से दूर हो सकता है. तो चलिए जानते हैं आखिर कौन से हैं वह योगासन जिससे आपका सर्वाइकल पेन दूर हो सकता है.


सर्वाइकल दर्द क्या होता है | जानिये सर्वाइकल पेन क्यों होता है


सर्वाइकल पेन रीढ़ की हड्डी से लेकर गर्दन तक में होने वाले दर्द को कहते हैं. कमर दर्द जो रीढ़ की हड्डी और गर्दन के पीछे हिस्से में होता है वह सर्वाइकल दर्द की निशानी है. अक्सर यह दर्द तब उत्पन्न होता है जब लगातार व्यक्ति एक ही पोजीशन में बैठा रहे या फिर कोई काम करते रहने से. आज हम आपको 5 योगासन बताते हैं जिनकी मदद से आपको सर्वाइकल दर्द में राहत मिलेगी-


सर्वाइकल पेन से बचे रहने के लिए 5 बेहतरीन योगासन




1. इसे दूर करने के लिए आप वज्रासन या सुखासन की स्थिति में बैठ सकते हैं. इस आसन में आप अपने दोनों हाथों की मुट्ठी बांधकर छाती के सामने रखे.फिर धीरे-धीरे सांस भरते हुए मुट्ठी को सामने की तरफ़ खीचें, ध्यान रहे कि हथेली की मुट्ठी आपस में खुलनी नहीं चाहिए.उसके बाद आप अपने कलाई को आगे की तरफ़ अधिक से अधिक खींचे.फिर धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए आपको वापस सामान्य स्थिति में आना है. इसे आप लगातार 10 से 15 बार दोहराएंगे. लगातार अभ्यास से हाथों से लेकर गर्दन तक की नाड़ियां खुल जाएंगी और सर्वाइकल का दर्द ठीक हो जाएगा.


2. आप सीधे वज्रासन या सुखासन की स्थिति में बैठ जाएं. धीरे-धीरे सांस भरते हुए गर्दन को मोड़ते हुए ऊपर की तरफ़ खिंचे.उसके बाद विपरीत दिशा में सांस छोड़ें और गर्दन नीचे की तरफ खिंचे.ध्यान रहें जब आप ऊपर की तरफ खिंच रहें हैं तो आपको सांस भरना हैं और जब नीचे की तरफ गर्दन को ला रहे हैं तो सांस को छोड़ना है. नीचे की तरफ लाने की कोशिश में आपको अपनी ठुड्ढी को कंठ से लगाने का प्रयास करना है.इसको कम से कम 5 से 10 बार करते रहे आपको गर्दन के दर्द में बेहद आराम महसूस होगा.


3. इसमें व्यायाम में आप सबसे पहले अपनी गर्दन को ट्विस्ट करेंगे यानी मोड़ेंगे.सांस भरते हुए धीर-धीरे एक तरफ ट्विस्ट करें फिर धीरे-धीरे सांस भरते हुए वापस सामान्य स्थिति में आएं.इसी क्रम को आप विपरीत दिशा में भी करें. सांस भरते हुए एक दिशा में ले जाएं और सांस छोड़ते हुए वापस सामान्य स्थिति में आएं. आपको गर्दन को लगातार 10 से 15 बार घूमाएं. दोनों दिशाओं में सांस के साथ करने की कोशिश करें. इस व्यायाम को लगातार 10 से 15 दिन करने से आपको गर्दन दर्द में काफी आराम मिलेगा.




4. इसमें आप सबसे पहले वज्रासन की स्थिति में बैठ जाएं, उसके बाद धीरे से घुटनों के बल खड़े होने की कोशिश करें. फिर अपने किसी भी एक हाथ को पूरा गोल घुमाते हुए अपनी एड़ी पर ले जाकर टिका दें.जब आपका एक हाथ पूरे तरीके से एड़ी पर टिक जाए तो दूसरे हाथ को समान स्थिति के साथ वापस लेकर दूसरी एड़ी के साथ टिका दें.थोड़ी देर रूक कर जितना हो सके उतना कमर को आगे की तरफ़ यानी कि विपरीत दिशा में पैरों को खींचे और गर्दन को पीछे की तरफ़ खींच कर ज्यादा से ज्यादा समय तक उसे उसी प्रकार से करते रहें. कम से कम 10 से 15 सेकंड तक आपको इस आसन में रुकना है. इसके लगातार 10 से 15 बार कोशिश करने से आपको गर्दन के दर्द से छुटकारा मिल जाएगा.


5. सबसे पहले आप सुखासन की स्थिति में बैठ जाएं.एक हाथ को ज्ञानमुद्रा में रखें और दूसरे हाथ का तर्जनी और अनामिका ऊंगली का इस्तेमाल करते हुए एक-एक नासिका पुट को आप बंद कर के दूसरे को खोल दें. उसके बाद आप अपने दाहिने नासिका के पुट को बंद करके बायीं नासिका से सांस लें और फिर धीरे-धीरे उसको दाहिनी नासिका से छोड़ दें.वापस आपको दाहिनी नासिका से सांस लेना है फिर बायीं से छोड़ देना है. इसी कार्य को आपको 15 से 20 मिनट तक दोहराते रहे.ध्यान रहे कि आपको दायीं नासिका से शुरुआत करनी है और जब अंत करेंगे तो आप दाहिनी नासिका से सांस छोड़ते हुए ही इस व्यायाम को खत्म करें. 15 से 20 मिनट लगातार इस व्यायाम का प्रयास करने से कुछ ही दिनों में आपको गर्दन दर्द से राहत मिल जाएगी.


इस व्यायाम को आप प्रतिदिन करने की कोशिश करें यकीन मानिए आप का सर्वाइकल का दर्द इन आसान से योगासन को निरंतर करने से दूर होने लगेगा, इन आसनों का अभ्यास आपको शुरुआत में सावधानी के साथ करना है. दर्द होने पर यह आसान कम करने हैं.

0 Comment

हैवी बॉडी बनाने के लिए जिम में कभी ना तोड़ें ये 6 नियम, वरना किडनी हो सकती है आपकी तुरंत फेल

Heavy Exercise In Hindi- आज के समय में जिम जाना लोगों की जरूरत और आदत दोनों बन चुकी है. कुछ शौक के लिए जिम जाते हैं तो कुछ मजबूरन. अगर आप अपनी नजर घुमाकर देखें तो हर दूसरा आदमी आपको जिम जाते हुए जरूर नजर आएगा. कई लोग इसे फैशन का एक हिस्सा मानते हैं. जिम में लोग घंटों पसीना बहाते हैं ताकि वह फिट और फाइन रह सकें. आपने हैवी वर्कआउट का नाम तो सुना ही होगा, जहां लोग घंटों वर्कआउट करते हैं अपनी बॉडी को हेवी बनाने के लिए. लेकिन अगर यही वर्कआउट सही तरीके से ना किया जाए तो यह हमारे शरीर को नुकसान पहुंचाता है.


एक रिसर्च द्वारा यह मालूम हुआ है कि अगर वर्कआउट सही तरीके से ना किया जाए तो उसका असर आपकी किडनी पर पड़ता है. जिससे किडनी खराब होने का डर बना रहता है. जो आपके हेल्थ और किडनी दोनों का ध्यान रखते हुए हम आपको जिम के ऐसे नियम बताएंगे जिससे आप इस डर से मुक्त हो सकते हैं. तो आइए जानते हैं आखिर कौन से हैं ऐसे नियम जिसे हमें जिम करते वक्त कभी नहीं तोड़ना चाहिए.




Heavy Exercise In Hindi | हैवी बॉडी बनाने के लिए जिम में कभी ना तोड़ें ये 6 नियम


1. ट्रेडमिल पर दौड़ते वक्त आपको समय का ख्याल जरूर होना चाहिए. अक्सर कई लोग ट्रेडमिल पर दौड़ते वक्त भूल जाते हैं कि आखिर उनको कितना समय उसमें देना चाहिए और उसमें वह अपना ज्यादा समय लगा देते हैं. जिससे आपके बॉडी पर प्रभाव पड़ सकता है. ध्यान रखें कि आपको अपने निर्धारित समय तक ही उसमें दौड़ना है.


2. जिम करते वक्त लोगों को हमेशा जिम वाले कपड़े ही पहनने चाहिए, जिससे आपका व्यायाम अच्छे से हो पायेगा. कई बार लोग जिम के कपड़ों के बजाए ढीले ढाले कपड़े या फिर नॉर्मल कपड़े पहन कर जिम करते हैं. जिससे उनको वर्कआउट करने में बहुत परेशानी होती है.


3. ट्रेडमिल या दूसरे मशीनों को इस्तेमाल करते वक्त आप कोई दूसरा काम ना करें. हमेशा लोगों को देखा गया है कि ट्रेडमिल पर चलते वक्त लोग कोई किताब या न्यूज़ पेपर पढ़ रहे होते हैं. जिससे घायल होने की आशंका बनी रहती है क्योंकि आपका ध्यान दो जगह बना हुआ रहता है.




4. रोज जिम जाना स्वास्थ्य के लिए अच्छा है. लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप बीमारी की हालत में भी जिम चले जाए. अगर आपको खांसी जुकाम छींक या वायरल जैसी चीजें हो रही हों तो आप जिम बिल्कुल ना जाए. आपके जाने से दूसरे लोगों को भी यह परेशानी झेलनी पड़ सकती है.


5. जिम में अक्सर कई लोग गलत तरीके से व्यायाम करते हैं. यहां तक कुछ लोग ऐसे होते हैं कि ट्रेनर से सही व्यायाम करने का तरीका तक नहीं पूछते. यह बिल्कुल गलत है. अगर आप सही मायने में जय मां अपने अच्छे स्वास्थ्य शरीर के लिए गए हैं तो ट्रेनर के मुताबिक चले ना कि अपने मुताबिक.


6. आप अपना समय व्यायाम में दीजिए ना कि दूसरे क्या करें उस पर. कई लोग ऐसे होते हैं कि अपना जिम करना छोड़ दूसरे क्या कर रहे हैं उस पर नजर रखते हैं. जो कि नहीं होना चाहिए. आप अपना बहुमूल्य समय सिर्फ और सिर्फ अपने आप को दें ना कि किसी और को.


आपको यह 6 तरीके कैसे लगे हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर बताएं. अपने जिम से जुड़ी समस्या को आप हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर शेयर कर सकते हैं. अगले आर्टिकल में हम आपको उसका हाल बताने की पूरी कोशिश करेंगे.


0 Comment

virat kohli fitness secret in hindi | घर बैठे-बैठे इन 5 आसान सी एक्ससरसाइज से आप बड़े प्यार से कोहली और धोनी की तरह से खुद को बना सकते हो फिट

virat kohli fitness secret in hindi फिटनेस एंड बॉडी बनाने के लिए टाइम मैनेजमेंट का बहुत ज्यादा ध्यान रखना होता है. क्रिकेटर होने के साथ-साथ जिम को मैनेज करने से पहले टाइम मैनेजमेंट की कला सीखना होता है. रोजाना दो से तीन घंटा जिम करते रहने से बॉडी सॉलिड और आकर्षित बनती हैं. virat kohli fitness की बात करें तो कोहली फिटनेस के लिए सबसे ज्यादा मेहनत करते हैं. विराट कोहली मैच के बाद भी जिम में घंटों पसीना बहाते हैं. virat kohli fitness secret in hindi में आज हम आपको कोहली की फिटनेस का राज बताने वाले हैं. लेकिन याद रखें कि फिटनेस बनाने से अधिक ध्यान रखने वाली बात ब्रेकफास्ट में प्रोटीन का ध्यान उचित रूप से रखना होता है. इसके अलावा ये चिकन भी अधिक मात्रा खाते हैं.


आज के दौर में अगर किसी का शरीर दुबला-पतला होता है वो दूसरों के सामने अपने आपको बहुत लज्जित महसूस करते है. पूर्व कप्तान धोनी और वर्तमान कप्तान विराट कोहली भी ऐसे ही थे लेकिन उन्होंने जिम जॉइन कर के अपने शरीर को विराट रुप मे तब्दील कर दिया है. ये पाँच आसान एक्सरसाइज आपको भी एक स्मार्ट और इस्टालिश बॉडी में बदल देगी.


virat kohli fitness secret | विराट कोहली फिटनेस



# Chest Exercises

सीने को बेंच पर प्रेस करने से मांसपेशिया मजबूत होती है. बेंच प्रेस के लिए बेंच पर पीठ को बेच पर रखे और हाथों से बार्बेल को पकड़कर 20 से 25 बार इसे उठाकर नीचे लाएं. जिससे chest की मांसपेशियां मजबूत हों जाएगी ओर सीना चौड़ा होगा.




# leg lift exercise

सबसे पहले लेग लिफ्ट होता है इस एक्सरसाइज को करने के लिए आपको फर्श पर लेटेना होता है और पैरों  व हाथों को सीधा रखना है. पैरो को एक साथ -साथ सीधा उठाकर 90 डिग्री का कोण बनाना होता. कमर तक 6 सेकेंड तक यूं ही रोक रखना है, फिर अपनी प्राम्भिक अवस्था मे लाना होता है जिससे आपके शिक्स पैक बन जाते है.




# Push up exercise

पुश अप्स करने से अनेक फ़ायदे होते है , इससे  चौड़े सीना होने के साथ साथ हैंड बिग सेफ में आते है. इनको दोनों हाथों के सहारे शरीर को ऊपर उठाएं एवम नीचे लाने से सीने की मसल्स बढ़ेंगी और बाजू बहुत मजबूत हो जाएगी.


# स्क्वेट

यह शरीर में बड़ी बॉडी यानी मसल्स पर कार्य करती हैं. इसलिए इसका असर पूरी बॉडी  पर पड़ता हैं. परन्तु यह ज्यादातर जान्घो ओर थाईज़ के लिए होती हैं.


# नींद ले

शरीर बनाने के लिए नींद बहुत ज़रूरी है होता है. आप कम से कम 7 या 8 घंटे नींद ले. अगर ऐसा नही होता है तो इसका असर सीधा आपकी बॉडी पर जाएगा जो कि आपके लिये अच्छा साबित नहीं होगा.



तो इस तरह से आप भी अपने फेमस क्रिकेटर्स विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी की तरह से एक दम फिट बॉडी बना सकते हैं. वैसे भी जीवन का आनंद तभी लिया जा सकता है जब इंसान पूरी तरह से स्वस्थ और फिट होता है.


0 Comment

आज मैच में इन्डियन टीम पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के लिए दिया हैरतंगेज ब्यान, धोनी की फिटनेस के ऊपर उठाई है गांगुली ने ऊँगली

Sourav Ganguly- भारत और इंग्लैंड के बीच में टी20 सीरीज का फाइनल मैच आज खेला जा रहा है और इंग्लैंड की टीम ने इस मैच में काफी शानदार शुरुआत की है. आपको बता दें कि टॉस जीतने के बाद भारतीय गेंदबाज आज मैदान पर काफी खराब प्रदर्शन करते हुए नजर आए हैं. टीम में आज भुवनेश्वर कुमार और कुलदीप यादव नहीं है जिसके बाद कोहली का यह फैसला सभी को हैरान करने वाला रहा है.

टीम का सबसे अच्छा गेंदबाज कुलदीप यादव टीम से बाहर कर दिया गया है. आज मैच में भारत सिद्धार्थ कौल और दीपक चहर को मौका दिया गया है लेकिन वहीं इन्डियन क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने आज मैंने कुछ ऐसा बोला है कि इसको पढ़कर आप खुश हो जाएंगे-


Sourav Ganguly सौरव गांगुली के की धोनी की तारीफ़

सौरव गांगुली ने महेंद्र सिंह धोनी के बारे में बोला है कि धोनी अब एक नए लुक में नजर आ रहे हैं. जिस धोनी के लिए कई लोग टीम से बाहर हो जाने या सन्यास की बात करते रहे हैं तो वहीं महेंद्र सिंह धोनी के लिए टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली यह बोलते हुए नजर आ रहे हैं कि धोनी अब बदल रहे हैं.

Sourav Ganguly धोनी शायद अब मैदान के ऊपर काफी अलग अलग रूप में नजर आने लगे हैं. आपको बता दें कि इंडियन क्रिकेट टीम के लिए आज महेंद्र सिंह धोनी ने दो शानदार कैच क्रिकेट टीम को मैच में वापसी दिलाई है.


Sourav Ganguly हार्दिक पांड्या के एक ओवर में महेंद्र सिंह धोनी ने काफी दूर से भागते हुए यह शानदार कैच पकड़ी थी जिसके बाद सौरव गांगुली ने खुलकर धोनी की प्रशंसा की है. धोनी का यह नया लुक सौरव गांगुली को काफी पसंद आ रहा है.

आपको बता दें कि सौरव गांगुली का शायद कुछ तात्पर्य यह था कि धोनी जिस तरीके से अब लगातार खुद को बदल रहे हैं वह इंडियन क्रिकेट टीम के लिए अच्छे संकेत हैं. धोनी ने अब फिटनेस के मामले में अब दूसरे कई खिलाड़ियों से आगे निकल रहे हैं और शायद सौरव गांगुली आज मैच में धोनी के इसी लुक की तरफ इशारा कर रहे थे.

0 Comment