Icc World Cup 2019- 5 महान खिलाड़ी जो विश्वकप 2019 के बाद क्रिकेट से सन्यास लेने वाले हैं

Icc World Cup 2019- 5 महान खिलाड़ी जो विश्वकप 2019 के बाद क्रिकेट से  सन्यास लेने वाले हैं

विश्वकप के बाद क्रिकेट को अलविदा कहना कोई नयी बात नहीं है और यह प्रथा लंबे समय से चली आ रही है. और इस विश्वकप के बाद भी कई बड़े खिलाड़ी हैं जो.क्रिकेट को अलविदा कह सकते हैं, आइए एक नजर डालते हैं उन खिलाड़ियों पर भी जिनका यह आखिरी विश्वकप हो सकता हैं.


5. लसिथ मलिंगा




श्रीलंका के वर्तमान कप्तान और विश्व के सबसे सफल तेज गेंदबाजों मे से एक मलिंगा का यह आखिरी विश्वकप हो सकता है.  अपने अद्भुत बालिंग ऐक्शन , और तेज तर्रार योर्कर के दम पर उन्होंने कई वर्षों तक विपक्षी बल्लेबाजों को ध्वस्त किया है.  इसके अलावा उन्होंने एक कप्तान के तौर पर श्रीलंका को 2014 में टी20 विश्वकप भी जिताया है. उनके नाम अब तक खेले 213 वनडे मैचों में 318 विकटें दर्ज हैं.


4. शोएब मलिक




पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और विश्वसनीय हरफनमौला शोएब मलिक भी अपने करियर का आखिरी विश्व कप खेलने जा रहे हैं.  1999 में अपने एकदिवसीय क्रिकेट करियर की शुरुआत करने वाले मलिक ने अब तक पाकिस्तान के लिए 279 मैचों में हिस्सा लिया है और इनमें उन्होंने 35 की औसत से 7379 रन बनाए हैं, इसके अलावा उन्होंने एक गेंदबाज के तौर पर 156 विकटें भी हासिल की हैं.


3. डेल स्टेन




इस कडी में अगला नाम स्टेन हैं.दक्षिण अफ्रीका के महान तेज गेंदबाज स्टेन का भी यह आखिरी विश्व कप साबित हो सकता है.  अपने तेज गति और स्विंग के दम पर पिछले एक दशक से ज्यादा में बल्लेबाजों को भयभीत करनेवाले स्टेन अपने करियर के आखिरी पड़ाव पर हैं और अफ्रीकी टीम में रबाडा, न्गीदी और जूनियर डाला जैसे गेंदबाजों के आने के बाद वह तेज गेंदबाजी का जिम्मा इन युवाओं को सौंप देना चाहेंगे.  स्टेन ने अब तक दक्षिण अफ्रीका के लिए 120 से ज्यादा एकदिवसीय मैचों में 180+ विकटें हासिल की हैं.


2. हासिम अमला




दक्षिण अफ्रीका के ही महान सलामी बल्लेबाज अमला भी आगामी विश्वकप के बाद सन्यास ले सकते हैं.  पिछले डेढ़ दशक में वे विश्व क्रिकेट के सबसे समर्थ बल्लेबाजों मे से एक रहे हैं और वह दक्षिण अफ्रीकी टीम के बल्लेबाजी का भी मुख्य स्तंभ रहे हैं.  उन्होंने अब तक 174 एकदिवसीय मैचों में 7910 रन बनाए हैं लगभग 50 के औसत से.


1. महेंद्र सिंह धोनी




भारत के महानतम विकेटकीपर बल्लेबाज और विश्व के सबसे सफल कप्तानों मे से एक महेंद्र सिंह धोनी भी आगामी विश्व कप के बाद क्रिकेट को अलविदा कह सकते हैं.  अब तक खेले 338 मैचों में 51 के औसत से 10,415 रन बनाए हैं और इसके अलावा उन्होंने 311 कैच साथ ही 119 स्टंप भी किए. एक कप्तान के तौर पर उन्होंने भारत को 2007 टी20 विश्व कप, 2011विश्वकप , 2013 चैम्पियंस ट्राफी जिताई हैं.

0 Comment

टेस्ट क्रिकेट में भारत के लिए सबसे अधिक विकेट लेने वाले 5 गेंदबाज, अभी इनमें से कोई भी इंडियन टीम में नहीं है

Most wickets in Test

भारत ने हमेशा क्रिकेट को महान खिलाडी दिए हैं , चाहे वह गावस्कर, तेंदुलकर, द्रविड़, सहवाग या कोहली हों, उनके पास बल्लेबाजी पाले में कभी कमी नहीं थी, लेकिन भारत के पास केवल एक चीज की कमी रही है, वह यह है कि भारत अपने बल्लेबाजी पाले का समर्थन करने के लिए बढ़िया गेंदबाज. हालांकि यह एक भूल भी हो सकती हैं क्योंकि भारत के कई महान गेंदबाज हैं जिन्होंने दुनिया भर के बल्लेबाजों को परेशान किया.  यहां हम टेस्ट क्रिकेट में भारत के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले शीर्ष पांच बॉलरों की सूची बताते हैं.


5. जहीर खान




भारत के लिए रेयर वास्तविक तेज गेंदबाजों में से एक, जहीर खान, लगभग 2 दशकों तक भारतीय गेंदबाजी लाइन अप के मुख्य स्तंभ थे.  उन्होंने जो 92 टेस्ट खेले, उनमें उन्होंने 32.9 की औसत से 311 विकेट लिए, जिसमें 7/87 उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आंकड़ा था.


4. आर अश्विन




वर्तमान भारतीय स्पिन गेंदबाज अश्विन को अभी से ही एक महान क्रिकेटर माना जाता है.  एशियाई परिस्थितियों में उनकी विकेट लेने की क्षमता अविश्वसनीय है, हालांकि उन्होंने विदेशों में संघर्ष किया है लेकिन वह हर मैच के साथ सुधार कर रहे हैं.  65 परीक्षणों में उन्होंने 336 विकेट अपने नाम किए हैं, जो 25 के चौंका देने वाले औसत के साथ 7/59 उनके सर्वश्रेष्ठ आंकड़े हैं.


3. हरभजन सिंह




हरभजन सिंह भारत के सबसे सफल ऑफ स्पिन गेंदबाज हैं.  उन्होंने अनिल कुंबले के साथ मिलकर एक घातक जोड़ी बनाई जिसने भारत को कई मैचों में जीत दिलायी हैं .  उन्होंने भारत के लिए 103 टेस्ट मैच खेले और 32 की औसत से 417 विकेट लिए, जिसमें उनका करियर बेस्ट रहा 8-105 का.


2. कपिल देव



Most wickets in Test


(most wickets in test) पहले वास्तविक तेज गेंदबाज ऑल-राउंडर और भारत के पहले विश्व कप विजेता कप्तान कपिल देव को सबसे महान ऑलराउंडर में से एक माना जाता है,  उन्होंने भारत के लिए 131 टेस्ट मैच खेले और 29 की औसत से 434 विकेट लिए. उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आंकड़ा 9/83 है और 9-विकेट हॉल का दावा करने वाले कुछ गेंदबाजों में से एक थे.


1. अनिल कुंबले




भारत के लिए सबसे बड़े मैच विजेता में से एक, कुंबले लगभग दो दशकों तक भारतीय गेंदबाजी लाइन अप के मुख्य स्तंभ थे.  उन्होंने 132 टेस्टों में 619 विकेट अपने नाम किए हैं और भारत के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले और ओवरऑल तीसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले लेग स्पिनर हैं.  वह टेस्ट मैच की एक ही पारी में दस विकेट लेने का दावा करने वाले केवल दो गेंदबाजों में से एक हैं, दूसरा नाम जिम लेकर का हैं. उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ 74 रन देकर 10 विकेट लिए, जो उनकी सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी है.

0 Comment

Icc World Cup 2019- 5 महान खिलाड़ी जो विश्वकप 2019 के बाद क्रिकेट से सन्यास लेने वाले हैं

विश्वकप के बाद क्रिकेट को अलविदा कहना कोई नयी बात नहीं है और यह प्रथा लंबे समय से चली आ रही है. और इस विश्वकप के बाद भी कई बड़े खिलाड़ी हैं जो.क्रिकेट को अलविदा कह सकते हैं, आइए एक नजर डालते हैं उन खिलाड़ियों पर भी जिनका यह आखिरी विश्वकप हो सकता हैं.


5. लसिथ मलिंगा




श्रीलंका के वर्तमान कप्तान और विश्व के सबसे सफल तेज गेंदबाजों मे से एक मलिंगा का यह आखिरी विश्वकप हो सकता है.  अपने अद्भुत बालिंग ऐक्शन , और तेज तर्रार योर्कर के दम पर उन्होंने कई वर्षों तक विपक्षी बल्लेबाजों को ध्वस्त किया है.  इसके अलावा उन्होंने एक कप्तान के तौर पर श्रीलंका को 2014 में टी20 विश्वकप भी जिताया है. उनके नाम अब तक खेले 213 वनडे मैचों में 318 विकटें दर्ज हैं.


4. शोएब मलिक




पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और विश्वसनीय हरफनमौला शोएब मलिक भी अपने करियर का आखिरी विश्व कप खेलने जा रहे हैं.  1999 में अपने एकदिवसीय क्रिकेट करियर की शुरुआत करने वाले मलिक ने अब तक पाकिस्तान के लिए 279 मैचों में हिस्सा लिया है और इनमें उन्होंने 35 की औसत से 7379 रन बनाए हैं, इसके अलावा उन्होंने एक गेंदबाज के तौर पर 156 विकटें भी हासिल की हैं.


3. डेल स्टेन




इस कडी में अगला नाम स्टेन हैं.दक्षिण अफ्रीका के महान तेज गेंदबाज स्टेन का भी यह आखिरी विश्व कप साबित हो सकता है.  अपने तेज गति और स्विंग के दम पर पिछले एक दशक से ज्यादा में बल्लेबाजों को भयभीत करनेवाले स्टेन अपने करियर के आखिरी पड़ाव पर हैं और अफ्रीकी टीम में रबाडा, न्गीदी और जूनियर डाला जैसे गेंदबाजों के आने के बाद वह तेज गेंदबाजी का जिम्मा इन युवाओं को सौंप देना चाहेंगे.  स्टेन ने अब तक दक्षिण अफ्रीका के लिए 120 से ज्यादा एकदिवसीय मैचों में 180+ विकटें हासिल की हैं.


2. हासिम अमला




दक्षिण अफ्रीका के ही महान सलामी बल्लेबाज अमला भी आगामी विश्वकप के बाद सन्यास ले सकते हैं.  पिछले डेढ़ दशक में वे विश्व क्रिकेट के सबसे समर्थ बल्लेबाजों मे से एक रहे हैं और वह दक्षिण अफ्रीकी टीम के बल्लेबाजी का भी मुख्य स्तंभ रहे हैं.  उन्होंने अब तक 174 एकदिवसीय मैचों में 7910 रन बनाए हैं लगभग 50 के औसत से.


1. महेंद्र सिंह धोनी




भारत के महानतम विकेटकीपर बल्लेबाज और विश्व के सबसे सफल कप्तानों मे से एक महेंद्र सिंह धोनी भी आगामी विश्व कप के बाद क्रिकेट को अलविदा कह सकते हैं.  अब तक खेले 338 मैचों में 51 के औसत से 10,415 रन बनाए हैं और इसके अलावा उन्होंने 311 कैच साथ ही 119 स्टंप भी किए. एक कप्तान के तौर पर उन्होंने भारत को 2007 टी20 विश्व कप, 2011विश्वकप , 2013 चैम्पियंस ट्राफी जिताई हैं.

0 Comment

2 जिगरी यार जो आंधी की तरह से इंडियन क्रिकेट टीम में आये और तूफ़ान की तरह गायब हो गए हैं

Prithvi Shaw | Shubman gill


भारतीय क्रिकेट टीम में आज कई युवा खिलाड़ियों ने अपनी जगह पक्की कर दी और कई क्रिकेटर कोशिश में लगे हुए है. हाल ही में पृथ्वी शॉ के बाद शुभमन गिल ने भी भारतीय राष्ट्रीय क्रिकेट टीम में जगह बना दी है और डेब्यू भी कर दिया है. शुभमन गिल और पृथ्वी शॉ जिनकी आयु लगभग बराबर ही है और दोनों एक साथ भारतीय अंडर-19 क्रिकेट टीम की तरफ से अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप में खेले और अच्छा प्रदर्शन किया था. इस विश्व कप में टीम इंडिया ने शानदार प्रदर्शन करते हुए फाइनल मुकाबला जीता था. अब हम यह जानेंगे कि आपका पृथ्वी शॉ और शुभमन गिल में से पसंदीदा क्रिकेटर कौन है. आप हमें कमेंट करके बता सकते है.




कौन है पृथ्वी शा और शुभमन गिल दोनों में से ज्यादा फेवरेट क्रिकेटर


खैर, हम यह बताएँगे कि हमारा इन दोनों में फेवरेट क्रिकेटर कौन है. तो आपको बता दें कि हमारी नजर में ये दोनों क्रिकेटर फेवरेट है लेकिन बल्लेबाजी की बात करें तो उसमें पृथ्वी शॉ थोड़े आगे है. हालाँकि शुभमन गिल ने भी इन दिनों काफी अच्छी बल्लेबाजी करते हुए खूब सुर्खिया पायी है. अब देखते है कि इन दोनों का करियर कैसा रहा है अब तक.


- पृथ्वी शॉ का क्रिकेट करियर | Prithvi Shaw


19 वर्षीय पृथ्वी शॉ जिनका जन्म ठाने, महाराष्ट्र में हुआ था और पहली बार कोई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच वेस्टइंडीज के खिलाफ 4 अक्टूबर 2018 में टेस्ट के रूप में खेला था जिसमें शानदार प्रदर्शन करते हुए 134 रनों की पारी खेली थी. यह शतक इनके लिए काफी ख़ास था क्योंकि यह पहला ही अंतरराष्ट्रीय मैच था. अब तक 2 टेस्ट मैच खेलकर 237 रन बना चुके है. इनका बल्लेबाजी औसत अब तक 118.50 की है.


वहीँ इनके घरेलू क्रिकेट करियर पर एक नजर डालें तो 17 प्रथम श्रेणी मैचों में अब तक 1767 रन बना चुके है और 25 लिस्ट ए मैचों में 1014 रन अब तक बनाये है.



- शुभमन गिल का क्रिकेट करियर


इसी बीच शुभमन गिल की बात करें तो इनका जन्म 8 सितम्बर 1999, फाजिल्का, पंजाब में हुआ था. इन्होंने हाल ही में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना अंतरराष्ट्रीय करियर का आगाज किया लेकिन कुछ ख़ास नहीं कर पाए है. 2 वनडे मैचों में अब तक यह 16 रन ही बना पाए है. जबकि प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 9 मैचों में 1089 रन बनाये है और 38 लिस्ट ए मैचों में 1545 रन बनाये है.


इस प्रकार हमारे लिए तो ये दोनों ही होनहार युवा बल्लेबाज फेवरेट है लेकिन अब आपकी बारी.  तो अब आप हमें कमेंट करके बता सकते है कि आपका पसंदीदा क्रिकेटर कौन है और क्यों है.

0 Comment