विराट कोहली ने किया कैमरे पर खुलासा, इसलिए इंग्लैंड में अर्द्धशतक बनाने वाले युवा खिलाड़ी हनुमा विहारी को टीम से बाहर

विराट कोहली ने किया कैमरे पर खुलासा, इसलिए इंग्लैंड में अर्द्धशतक बनाने वाले युवा खिलाड़ी हनुमा विहारी को टीम से बाहर
भारत और वेस्टइंडीज के बीच में चल रहे पहले टेस्ट मैच में हनुमा विहारी को टीम इंडिया में खेलने का मौका नहीं मिला है सभी को होंगी ठीक इंग्लैंड में शानदार बल्लेबाजी करने वाले हनुमा विहारी जैसे युवा खिलाड़ी को फिर से एक बार वेस्टइंडीज के साथ खेलने का मौका मिलेगा ताकि वह अपने करियर में और अधिक रन बनाता हुआ नजर आए लेकिन विराट कोहली ने अपनी प्लेइंग इलेवन का एलान किया तो हर किसी को हैरानी हुई थी. आइये आपको बताते हैं कि आखिर क्यों हनुमा विहारी को वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट मैच टीम से बाहर रखा गया है. हनुमा को शायद वेस्टइंडीज के खिलाफ खेलने का मौका मिलना चाहिए था- rohit-kohli-tell-openly-why-he-did-not-take-hanuma-vihari-in-team-indvswi

इसलिए हनुमा विहारी को किया है टीम से बाहर

टीम इण्डिया के कप्तान विराट कोहली ने टॉस के समय ऐसा बोला है कि वह अपनी सबसे अच्छी टीम को लेकर ही वेस्टइंडीज के खिलाफ मैदान पर खेला चाहते थे. वह नए खिलाड़ियों को भी मौका देना चाहते थे लेकिन अभी टीम के मध्यक्रम में कोई ज्यादा जगह नहीं है, जहां पर नए प्रयोग किया जाए. पहले जो पुराने और सीनियर खिलाड़ी है उनको बल्लेबाजी करते हुए देखा जाए कि उनकी फॉर्म किस तरीके से सही समय पर सही जगह पर आये. rohit-kohli-tell-openly-why-he-did-not-take-hanuma-vihari-in-team-indvswi ताकि आगे की टीम इंडिया के कठिन दौरे के लिए टीम इंडिया के सीनियर खिलाड़ी तैयार हो सकें। तो ही यही मुख्य कारण रहा है कि शायद हनुमा विहारी को टीम इंडिया के मध्यक्रम में जगह नहीं दी गई है. बेशक युवा खिलाड़ी शानदार बल्लेबाजी करता हुआ इंग्लैंड में नज़र आया था लेकिन इसके बावजूद भी अभी मध्यक्रम में टीम इंडिया के अंदर जगह खाली नहीं है. पृथ्वी शा इसलिए टीम में खेल रहे हैं क्योंकि अभी टीम में शिखर धवन नहीं है और ओपनिंग के लिए किसी भी खिलाड़ी के पास वो काबिलियत नहीं है जिसके लिए पृथ्वी शा जाने जाते हैं. लेकिन क्रिकेट एक्सपर्ट इस बात के लिए चिंतित हैं क्योकि हनुमा बिहारी को शायद आज टीम इण्डिया में जगह जरूर मिलनी चाहिए थी लेकिन वेस्टइंडीज के खिलाफ हनुमा नहीं खेल रहे हैं.

0 Comment

आंकड़ों से जानिये कि टेस्ट में कैसा रहा है कप्तान विराट कोहली का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ प्रदर्शन

टेस्ट में कप्तान विराट कोहली का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ प्रदर्शन, भारतीय क्रिकेट टीम इन दिनों ऑस्ट्रेलिया के लंबे दौरे पर हैं. बता दें कि आज सीरीज का तीसरा और आखिरी टी-20 मैच सिडनी में खेला गया था जिसमें मेहमान टीम भारत में जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए ऑस्ट्रेलिया को 6 विकेट से हराकर सीरीज में एक-एक की बराबरी कर दी. वहीं 6 दिसंबर से चार टेस्ट मैचों की सीरीज शुरू हो रही है जिसका आखिरी मुकाबला सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर ही 3 से 7 जनवरी 2019 को खेला जाएगा. इस पूरी सीरीज में भारतीय कप्तान विराट कोहली से काफी बड़ी उम्मीदें है.


तो इसी के चलते आज हम बात करने वाले हैं विराट कोहली के ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए टेस्ट मैचों के बारे में कि अब तक किस प्रकार का प्रदर्शन रहा है और हम यहां कैसी उम्मीद कर सकते हैं, तो आइए एक नजर डालते हैं.




ऐसा रहा है ऑस्ट्रेलिया में विराट कोहली का प्रदर्शन


30 वर्षीय भारतीय कप्तान विराट कोहली जो दिनों दिन शानदार प्रदर्शन करते हुए बड़े-बड़े कारनामे कर रहे हैं. बता दें कि इनका जन्म 5 नवंबर 1988 को हुआ था और हाल फिलहाल यह टेस्ट में इस वर्ष सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भी बल्लेबाज हैं इस कारण ऑस्ट्रेलिया गेंदबाजों के लिए भी कुल मिलाकर कोहली एक सबसे बड़ी परेशानी है.


अगर हम आस्ट्रेलियाई सरजमीं पर उनके प्रदर्शन पर एक नजर डालें तो सिर्फ आठ टेस्ट मैच खेले हैं और इसकी 16 पारियों में जबरदस्त 62 की औसत से 992 रन बनाए हैं. इस दौरान पांच शतक और 2 अर्धशतक भी बना चुके हैं.




इस प्रकार अगर हम इनके ओवरऑल करियर पर नजर डालें तो उन्होंने 15 बार ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच खेला है इस दौरान 50.84 की औसत से 1322 रन बनाए हैं जिसमें 6 शतक और 3 अर्धशतक हैं. कुल मिलाकर देखने को यही मिला है कि ऑस्ट्रेलिया में विराट कोहली का बल्ला खूब जमकर बोलता है और इस बार भारत सीरीज जीत भी सकती है.


Also read


साल 2018 में विराट कोहली के नाम टेस्ट में दर्ज हुआ एक शर्मनाक रिकॉर्ड, देखकर इसको शर्म से कोहली पानी हो जायेंगे


विश्व के 6 खतरनाक बल्लेबाज खिलाड़ी जो साल 2019 में खेल रहे हैं अपना आखरी आईपीएल टूर्नामेंट, 4 नाम भारतीय खिलाड़ियों के हैं


इस सीरीज में पहला मैच 6 से 10 दिसंबर को एडिलेड ओवल में खेला जाएगा. इसके बाद दूसरा पर्थ में 14 से 18 तीसरा मेलबर्न में 26 से 30 दिसम्बर को और आखिरी मुकाबला 3 से 7 जनवरी 2019 को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जाने वाला है.

0 Comment

साल 2018 में विराट कोहली के नाम टेस्ट में दर्ज हुआ एक शर्मनाक रिकॉर्ड, देखकर इसको शर्म से कोहली पानी हो जायेंगे

भारतीय वर्तमान क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली जो लगातार शानदार प्रदर्शन करते हुए नजर आ रहे हैं. कोहली जिन्होंने इस साल टेस्ट और वनडे में सबसे ज्यादा रन बटोरे हैं. बता दें कि भारतीय टीम अभी ऑस्ट्रेलिया का दौरा करने जा रही है जहां पर 3 टी-20 4 टेस्ट और अंत में तीन वनडे मैच भी खेले जाएंगे. इस दौरान टीम की कप्तानी की जिम्मेदारी विराट कोहली के कंधों पर ही टिकी हुई है. साथ ही इनसे विदेशी दौरे पर अच्छा प्रदर्शन करने की भी उम्मीद जताई जा रही है.


कप्तान विराट कोहली जो अब तक भारत के लिए 73 टेस्ट, 216 वनडे और 62 टी20 इंटरनेशनल मैच खेल चुके हैं. इस दौरान उन्होंने क्रमशः 6331, 10232 तथा 2102 रन बनाए हैं. वहीं शतकों की बात करें तो टेस्ट में 24 और वनडे में 38 शतक अब तक बना चुके हैं हालांकि टी-20 में इनका बेस्ट स्कोर नाबाद 90 रन है.




2018 में टेस्ट प्रारूप में विराट कोहली के नाम है यह अजीब रिकॉर्ड


यह तो आपको भी पता ही है कि साल 2018 में विराट कोहली टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. जी हां, विराट कोहली जिन्होंने अब तक 10 टेस्ट मैचों की 18 पारियों में कुल 1063 रन बनाए हैं. इस दौरान चार शतक और 3 अर्धशतक शामिल हैं. वहीं आपको यह भी बता दें कि कोहली ने यह 1063 रन कुल 59.05 की औसत से बनाए हैं. लेकिन इसमें एक खास रिकॉर्ड भी बनाया है.


Also Read


कप्तान विराट कोहली ने खोजे ऑस्ट्रेलिया टी20 सीरीज के लिए महेंद्र सिंह धोनी के 2 विकल्प, टीम को मिले नए फिनिशर




दरअसल ख़ास कारनामा कुछ और नहीं बल्कि यह है कि इनके बल्ले से इस साल टेस्ट में सिर्फ एकमात्र छक्का लगा है जबकि 117 चौके लगाने में सफल हुए है. हालांकि अपने इतने लंबे करियर में महज 18 बार ही गेंद को सीधे बाउंड्री के बाहर पहुँचाने में सफलता मिली है. अब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली जाने वाली इस सीरीज में इनके ऊपर पूरी निगाहें है कि वह विदेशी जमीन पर भारत को टेस्ट में जीत दिलाएं.

0 Comment

इंडियन टीम का ये गेंदबाज बना अब युजवेंद्र चहल के लिए खतरा, खत्म होने की कगार पर आया स्पिनर चहल का क्रिकेट करियर

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन टी-20 मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला आज ब्रिसबेन में खेला गया. जिसमें ऑस्ट्रेलियाई टीम ने डकवर्थ लुईस नियम के आधार से भारत को 4 रनों से हरा दिया है. वहीं अब अगला मुकाबला 23 नवंबर को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जाएगा.


इसमें आखिरी ओवर में भारत को कुल 11 रनों की दरकार थी लेकिन लगातार दो गेंदों पर क्रुणाल पांड्या और दिनेश कार्थिक आउट हो गए जिसके कारण हार का सामना करना पड़ा है. जबकि स्पिन गेंदबाज युजवेंद्र चहल को पिछले कुछ समय से लगातार नजरअंदाज किया जा रहा है.




यह तेज गेंदबाज जो बन रहा है खतरा युजवेंद्र चहल के लिए खतरा


khaleel ahmed Biography in hindi- बता दें कि युजवेंद्र चहल जिनको पिछले कुछ समय से लगातार आराम दिया जा रहा है. इसका कारण है तेज गेंदबाज खलील अहमद. बता दें कि 5 दिसंबर 1997 में टोंक, राजस्थान में जन्मे खलील अहमद एक दाएं हाथ के तेज गेंदबाज है जिन्होंने 6 वनडे मैचों में 11 विकेट लिए और चार टी-20 में चार विकेट लेकर अपनी जगह सुनिश्चित करने पर लगे हुए हैं. इस कारण दाएं हाथ के स्पिनर गेंदबाज चहल को लगातार आराम दिया जा रहा है. इससे पहले कुलदीप यादव और चहल एक साथ भारत को जीत दिलवाते नजर आये है.




अगर हम इस पहले मैच की बात करें तो ऑस्ट्रेलियाई टीम ने पहले बैटिंग करते हुए 17 ओवर में 4 विकेट गंवाकर 158 रन बनाए थे. जिसमें ग्लेन मैक्सवेल ने सबसे ज्यादा 24 गेंदों पर 46 रनों की पारी खेली तो क्रिस लिन ने 37 और आखिरी क्षणों में ऑलराउंडर मार्कस स्टोइनिस ने 19 गेंदों पर 3 चौकों और एक छक्के की सहायता से 33 रन बनाए.


इसके बाद भारतीय टीम को डकवर्थ लुईस नियम के आधार पर 17 ओवर में 174 रन बनाने को मिले. जिसमें रोहित शर्मा 7 रन बनाकर आउट हो गए. किन्तु साथी बल्लेबाज शिखर धवन ने सबसे अधिक 76 रनों की पारी खेली. जबकि इनके अलावा दिनेश कार्तिक ने 30 और ऋषभ पंत ने 20 रन बनाए और मुकाबला भारत 4 रनों से हार गया.


अब देखने वाली बात यही होगी कि क्या अगले मुकाबले में युजवेंद्र चहल को मौका मिलता है या नहीं क्योंकि इस मैच में खलील ने 14 की इकॉनमी रेट के साथ 3 ओवर में 42 रन लुटाये जो कि काफी महंगे रहे. दूसरा मैच 23 नवंबर को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जाएगा.


0 Comment