युवराज सिंह का जीवन परिचय

युवराज सिंह का जीवन परिचय


  1. युवराज सिंह जन्म और परिवार

  2. युवराज सिंह का ओवरआल करियर

  3. युवराज सिंह रिकार्ड्स

  4. युवराज सिंह निजी जीवन

  5. युवराज सिंह से जुड़े विवाद

  6. युवराज सिंह आईपीएल करियर

  7. युवराज सिंह टी20 करियर

  8. युवराज सिंह वनडे करियर

  9. युवराज सिंह टेस्ट करियर

  10. युवराज सिंह से जुड़ी ख़ास बातें

  11. उपलब्धियाँ



युवराज सिंह का जीवन परिचय


युवराज सिंह भारतीय क्रिकेट इतिहास में एक ऐसा नाम है जिसका नाम सुनते ही विपक्षी टीम के हौसले पस्त हो जाते हैं। बाएं हाथ के बल्लेबाज युवराज सिंह जब बैटिंग करने के लिए उतरते हैं तो सामने गेंदबाजी कर रहे गेंदबाजों के पसीने छूट जाते हैं। युवराज ने इस मुकाम पर पहुंचने के लिए काफी पसीना बहाया है।


युवराज भारतीय टीम के बैकबोन  कहलाते थे। भले ही आज युवराज सिंह भारत टीम का हिस्सा ना हो लेकिन युवराज सिंह ने भारतीय टीम को वर्ल्ड कप 2011 और 2007 के T-20 में 6 छक्के लगाकर एक नया इतिहास रच दिया। युवराज सिंह का नाम उन चुनिंदा खिलाड़ियों में लिया जाता है जो इतिहास के पन्नों में हमेशा के लिए अमर हो गए।


एक वो भी दौर था जब 2007 के T-20 वर्ल्ड कप में युवराज सिंह को एक कोहिनूर का हीरा कहा जाता था। दुनिया को अपना दीवाना बनाने में युवराज सिंह विश्व के क्रिकेटरों में सबसे आगे है। युवराज जब बल्लेबाजी करने मैदान में उतरते थे तो चारों तरफ स्टेडियम में उनका ही बोलबाला रहता था युवराज सिंह किसी हीरो से कम नहीं थे।


युवराज सिंह जन्म और परिवार


युवराज सिंह का जन्म एक सिख परिवार में 12 दिसंबर 1981 को हुआ है. युवराज सिंह के पिता का नाम योगराज सिंह है और युवराज के पिता भी एक क्रिकेटर रहे हैं. योगराज सिंह क्रिकेटर होने के साथ-साथ फिल्मों में अभिनय भी कर चुके हैं.  युवराज सिंह को जानने वाले लोगों को यह पता होगा कि युवराज को टेनिस और रोलर स्केटिंग का भी जूनून रहा था. रोलर स्केटिंग में युवराज सिंह को गोल्ड मैडल मिल चुका है. लेकिन पिता योगराज के कहने पर ही युवराज सिंह ने क्रिकेट को अपना करियर चुना था.


Yuvraj singh father


Yuvraj singh father योगराज सिंह ने 6 वनडे और 1टेस्ट मैच इंडियन टीम के लिए खेले थे. यहाँ पर इन्होनें टेस्ट मैच में 10 रन बनाये थे और वनडे में मात्र 1 रन बनाया था.


Yuvraj singh mother


युवराज सिंह की माता का नाम शबनम सिंह है जिनका  बाद में उनके पति योगराज सिंह से तलाक हो गया था.


Yuvraj Singh Wife युवराज सिंह की शादी बॉलीवुड अभिनेत्री हेजल कीज से 30 नवंबर 2016 को हुई थी. युवराज सिंह साल 2007 में इंडियन क्रिकेट टीम के कप्तान रह चुके हैं.


युवराज सिंह का ओवरआल करियर

अगर बात की जाए युवराज के क्रिकेट की शुरुआत की तो युवराज सिंह ने 2000 में हुए अंडर-19 वर्ल्ड कप में श्रीलंका के खिलाफ पहली बार मैदान पर उतरे।  अपने पहले ही मैच में युवी ने श्रीलंका के खिलाफ बहुत शानदार प्रदर्शन किया जिस कारण युवी को नेशनल क्रिकेट एकेडमी बेंगलुरू में क्रिकेट का गुर सीखने का मौका मिला।


शुरुआत में लागातार युवराज का प्रदर्शन काफी सराहनीय था। यही से क्रिकेट में युवराज सिंह को एक ऐसा मौका मिला जिससे युवराज का कैरियर आसमान को छूने लगा। सिंह ने सन 2000 में केन्या के खिलाफ वनडे में डेब्यू किया। इसी साल सिंह ने आईसीसी चैंपियन ट्रॉफी में खुद को साबित किया ।


युवराज सिंह ने नेटवेस्ट सीरीज फाइनल में मोहम्मद कैफ के साथ शानदार पार्टनरशिप की। युवराज का खेल दिन-प्रतिदिन बदलता गया और साल 2003 में क्रिकेट वर्ल्ड कप में युवराज सिंह ने अपने शानदार 110 रन मात्र 114 गेंदों में बना डाले। खुद के लागातर बेस्ट पर्फोरमेंस के कारण युवी के अंदर कुछ नेगेटिव एटीट्यूड आ गया जिसके कारण उन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ बल्लेबाजी करना का मौका नहीं मिला। लेकिन इसके बावजूद युवराज सिंह ने अपने कैरियर को उस अंजाम तक पहुंचाया जहां से लौटना मुश्किल था। देखा जाये तो कपिल देव के बाद युवराज सिंह ने भारतीय टीम में एक अच्छे हरफनमौला खिलाडी की कमी पूरी की |


युवराज सिंह के नाम वनडे में 109 विकेट है और इसके साथ ही युवराज ने ICC क्रिकेट वर्ल्ड कप 2007 में 14 मैच खेले और टोटल 370 रन का बनाएं। जिसमें उनका हाईएस्ट स्कोर 83 रन था। युवराज सिंह की वर्ल्ड कप 2011 में धमाकेदार शुरुआत ने ही टीम को वर्ल्ड कप जिताया। वर्ल्ड कप में युवराज सिंह ने 362 रन बनाए जिसके कारण उन्हें मैन ऑफ द सीरीज दिया गया।


युवराज सिंह रिकार्ड्स | Yuvraj singh records


भारतीय क्रिकेट के इतिहास मे सबसे सुनहरा पल T-20 2007 का वर्ल्ड कप था जिसमें युवराज सिंह ने छह गेंदों पर छह छक्के लगाकर विश्व रिकॉर्ड बनाया। इसके साथ युवराज सिंह पहले ऐसे ऑलराउंडर है जिन्होंने एक विश्वकप में 350 रन बनाए और 15 विकेट लिए। युवी को भारत का दूसरा सबसे बड़ा सम्मान अर्जुन अवार्ड से राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित किया गया। युवराज सिंह को सन 2014 में पदम श्री से भी सम्मानित किया जा चुका है। इसके साथ ही युवराज को एक ICICI स्पोर्ट पर्सन के रूप में 2014 में इस अवार्ड से सम्मानित किया।


युवराज सिंह अपने 40 टेस्ट मैचों में कुल 62 इनिंग खेल चुके हैं जिसमें उन्होंने 57.97 के स्ट्राइक रेट से तथा 262 चौकी और 22 छक्कों की मदद से कुल 1900 रन बनाए हैं। टेस्ट मैचों में उनका सार्वधिक स्कोर 169 रन है। 3 शतक और 11 अर्धशतक भी टेस्ट मैचों में लगा चुके हैं।


अपने ODI 304 मैचों के कैरियर में उन्होंने 27.67 स्ट्राइक रेट तथा 36.55 की औसत से कुल 8701 रन बनाया। जिसमें 908 चौके तथा 155 छक्के सहित 14 शतक और 52 अर्धशतक का अहम रोल है। वहीं अगर अंतरराष्ट्रीय टी-20 की बात करें तो अपने कुल 58 टी-20 मैचों में 100 36.38 के स्ट्राइक रेट से 77 चौके और 74 छक्कों की मदद से कुल 1177 रन बना चुके हैं।


युवराज सिंह निजी जीवन

युवराज सिंह का जीवन हमेशा दुखों से परिपूर्ण रहा। एक समय ऐसा आया जब युवराज सिंह को दुनिया की सबसे खतरनाक बीमारी कैंसर से जूझना पड़ा। सन 2011 वर्ल्ड कप के बाद युवराज सिंह को इस खतरनाक बीमारी का सामना करना पड़ा। मानो युवराज सिंह की जिंदगी में एक अंधेरा सा छा गया हो। जिंदगी के इस पड़ाव में युवराज सिंह ने भी हार नहीं मानी और वह अपना इलाज कराने के लिए अमेरिका चले गए। 9 अप्रैल को उनका इलाज शुरू तकरीबन ढाई महीने तक चले इलाज में युवराज सिंह को राहत की सांस मिली और उसने दुनिया की सबसे लाइलाज बीमारी को पराजित किया। अपनी इस  बीमारी से निजात पाने के बाद युवराज सिंह ने एक NGO की भी स्थापना की जिसका नाम यू वी कैन (You We Can) है जो इस बीमारी के बारे में जागरूकता फैलाती है


युवराज सिंह को निमोनिया नामक बीमारी से भी लड़ना पड़ा। उन्हें आयुषी मोनिया कैंसर सेंटर एट इंडियाना यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर में अपना इलाज कराना पड़ा।


युवराज सिंह से जुड़े विवाद


युवराज सिंह के करियर से जुड़ा हुआ सबसे बड़ा विवाद बताएं तो वह यह है कि जब युवराज सिंह टीम इंडिया से बाहर थे तो उस समय युवराज के पिता योगराज सिंह ने महेंद्र सिंह धोनी के ऊपर ये आरोप लगाया था कि टीम इंडिया के वर्तमान कप्तान महेंद्र सिंह धोनी युवराज सिंह को टीम में शामिल नहीं कर रहे हैं, जिसके कारण युवराज सिंह का करियर धोनी खराब कर रहे हैं.


इसके बाद खुद युवराज सिंह को आगे आकर अपने पिता योगराज सिंह के इस बयान का खंडन करना पड़ा था. 2011 विश्व कप के बाद लगातार युवराज सिंह टीम इंडिया के अंदर और बाहर हो रहे हैं और उस समय युवराज सिंह का करियर विवादों से भरा हुआ रहा है. चैंपियंस ट्रॉफी 2017 में जब युवराज सिंह को टीम इंडिया में मौका दिया गया था तो उस समय भी युवराज के उस सलेक्शन पर उंगलियां उठी थी.


युवराज सिंह की आईपीएल 2019 में कीमत | Yuvraj singh price in IPL 2019


साल 2015 के अंदर दिल्ली डेयरडेविल्स ने युवराज सिंह को 16 करोड़ में खरीदा था और उस साल युवराज सिंह सबसे महंगे खिलाड़ी रहे थे लेकिन इसके बाद लगातार आईपीएल में युवराज सिंह का ग्राफ नीचे जाता हुआ नजर आया है. साल 2019 में मुंबई इंडियंस ने युवराज सिंह को मात्र एक करोड़ में खरीदा है.


युवराज सिंह आईपीएल करियर - Yuvraj Singh IPL Career


युवराज सिंह के आईपीएल करियर की बात करें तो इन्होंने आईपीएल में अभी तक 128 मैच खेले हैं और यहां पर इनके नाम 2852 रन रहे हैं. साथ ही साथ आईपीएल में युवराज सिंह ने 12 अर्धशतक लगा रखे हैं. साल 2018 में युवराज सिंह ने आईपीएल के अंदर 8 मैच खेले थे और यहां पर इन्होंने मात्र 65 रन बनाए थे. किंग्स इलेवन पंजाब के लिए युवराज सिंह ने कोई खास प्रदर्शन नहीं किया था.



युवराज सिंह टी20 करियर



युवराज सिंह की टी20 करियर की बात करें तो टी20 में युवराज सिंह ने अभी तक 58 मैच खेले हैं और यहां पर इन्होंने 51 इनिंग्स में 1177 रन बना रखे हैं. युवराज सिंह की औसत यहां पर 28 की रही है साथ ही साथ युवराज सिंह की टी20 में स्ट्राइक रेट 136 की है. अपने टी20 करियर में युवराज सिंह ने कोई भी शतक नहीं लगाया है लेकिन यह इनके नाम 8 अर्धशतक जरूर हैं.



युवराज सिंह वनडे करियर


युवराज सिंह के वनडे करियर की बात करें तो वनडे में युवराज सिंह ने अभी तक जो 304 मैच खेले और यहां पर इनके बल्ले  8701 रन निकले हैं वनडे में युवराज सिंह की औसत 36. 56 की रही है. युवराज सिंह ने एकदिवसीय क्रिकेट में अभी तक 14 शतक और 52 अर्द्धशतक लगाए है.



युवराज सिंह टेस्ट करियर


युवराज सिंह का टेस्ट करियर कोई खास नहीं रहा है. आपको बता दें कि युवराज सिंह ने अपने क्रिकेट करियर में 40 टेस्ट मैच खेले और यहाँ पर इनके बल्ले से 1900 रन निकले. युवराज का टेस्ट में 33.93 का औसत रहा है. युवी ने टेस्ट में 3 शतक और 11 अर्द्धशतक लगाए हैं.  



Format

Matches

Runs

Avg.

100

50

Test

40

1900

33.93

03

11

ODI

304

8701

36.56

14

52

T20

58

1177

28.02

0

08

IPL

128

2652

24.79

0

12



युवराज सिंह से जुड़ी ख़ास बातें और उपलब्धियाँ


युवराज सिंह ने साल 2007 के आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप में छह गेंदों पर छह छक्के लगाकर एक नया विश्व कीर्तिमान अपने नाम रचा था. इंग्लैंड के खिलाफ युवराज सिंह ने यह कारनामा किया था.


युवराज सिंह किसी एक क्रिकेट वर्ल्ड कप में 300 से ज्यादा रन और 15 से ज्यादा विकेट लेने वाले पहले ऑलराउंडर बन चुके हैं.

2011 के आईसीसी वर्ल्ड कप में युवराज सिंह को मैन ऑफ द टूर्नामेंट का अवार्ड मिला था और इंडियन क्रिकेट टीम को यह विश्व कप जिताने में युवराज सिंह का अहम रोल था.


साल 2012 में युवराज सिंह को भारत के राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी के द्वारा खेल रत्न अवॉर्ड अर्जुन अवार्ड मिल चुका है.

साथ ही साथ साल 2014 में युवराज सिंह को पद्म श्री अवार्ड से भी सम्मानित किया गया है.



0 Comment

23 मार्च को आईपीएल 2019 के पहले ही मैच में धोनी बनाएंगे सबसे बड़ा रिकॉर्ड, कई धाकड़ बल्लेबाजों को छोड़ देंगे पीछे

आईपीएल 2019 का पहला मैच महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स और विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के मध्य 23 मार्च को एम ए चिदंबरम स्टेडियम, चेपौक, चेन्नई में खेला जाने वाला है। इसकी घोषणा बीते दिनों बीसीसीआई ने कर दी है। हालांकि अभी तक पहले 2 सप्ताह के लिए ही कार्यक्रम की घोषणा की है और बाकी चुनावों को देखते हुए बाद में ऐलान किया जाएगा।

याद हो कि पिछले सीजन में महेंद्र सिंह धोनी की टीम ने 2 साल बाद बेहतरीन वापसी की और फाइनल मुकाबला भी जीता था। उस सीजन में खुद धोनी ने भी खूब रन बनाए और अब पहले ही मैच में एक बड़ा रिकॉर्ड भी बनाने वाले हैं।



धोनी बना सकते हैं यह बड़ा रिकॉर्ड

पूर्व भारतीय टीम के कप्तान और वर्तमान चेन्नई सुपर किंग्स के विकेटकीपर बल्लेबाज और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पहले ही मैच में एक बड़ा कारनामा कर सकते हैं।

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ खेले जाने वाले इस मैच में अगर धोनी को ज्यादा बल्लेबाजी करने का मौका मिलता है और वह 43 रन बना देते हैं तो सबसे ज्यादा रन के मामले में छठे स्थान पर कायम शिखर धवन (4058) को पछाड़ देंगे। जबकि 71 रन बनाते ही माही रनों के मामले टॉप 5 में शामिल हो जाएंगे।

धोनी के अभी तक आईपीएल में 175 मैच खेलकर 4016 रन है जिसमें उनके 20 अर्धशतक शामिल है। इसी बीच वर्तमान समय में आईपीएल में सबसे अधिक रन बनाने वाले सुरेश रैना हैं जिन्होंने 176 मैचों में 4985 रन ठोके हैं। जबकि विराट कोहली (4948) दूसरे, रोहित शर्मा (4493) तीसरे, गौतम गंभीर (4217) चौथे और रॉबिन उथप्पा (4086) पांचवें स्थान पर हैं। धोनी शिखर धवन के बाद सातवें स्थान पर है लेकिन उनके पास नंबर पांच पर आने का बहुत अच्छा मौका है।

याद हो कि पिछले सीजन में धोनी ने 16 मैचों में 75.83 की सबसे अच्छी बल्लेबाजी औसत से कुल 455 रन बनाए थे जिसमें इनके तीन अर्धशतक भी थे। अब देखा जाएगा कि उनका बल्ला इस सीजन में बोलता है या नहीं।

#विराट कोहली #क्रिस गेल #आईपीएल रिकार्ड्स

0 Comment

3 क्रिकेटर जो नहीं आएंगे 2020 के टी20 विश्वकप में नजर, खत्म हो चुका होगा इन 3 बाहुबली खिलाड़ियों का करियर

2020 में आईसीसी टी-20 विश्व कप खेला जाने वाला है। बता दें कि इसका आयोजन 18 अक्टूबर से 15 नवंबर तक ऑस्ट्रेलिया में होगा। यह सातवां टी-20 विश्वकप है। पहले विश्व कप में भारतीय टीम ने पाकिस्तान को फाइनल मुकाबले में हराकर खिताब अपने नाम किया था। वहीं ऑस्ट्रेलियाई टीम अब तक एक बार भी यह खिताब अपने नाम नहीं कर पाई है लेकिन इस बार उनके पास अच्छा मौका होगा क्योंकि यहां उनके घरेलू मैदान है।


तो आज हम बात करने वाले हैं उन खिलाड़ियों के बारे में जो इस विश्व कप में खेलते हुए नजर नहीं आएंगे लेकिन वर्तमान में अपनी-अपनी टीमों के लिए खेल रहे हैं। तो चलिए डालते है एक नजर।


3 क्रिकेटर जो नहीं आएंगे 2020 के टी20 विश्वकप में नजर


1. महेंद्र सिंह धोनी




भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और वर्तमान विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी जो अब तक 338 वनडे मैच खेल चुके हैं। वहीं अगर टी-20 की बात करें तो 94 मैचों में इनके बल्ले से 37 की औसत से 1526 निकले हैं। साथ ही आपको यह भी याद दिला दें कि जब भारत ने 2007 का टी-20 विश्व कप जीता था तब धोनी कप्तान थे। लेकिन अब यह 2020 तक संन्यास ले लेंगे इस कारण खेलते हुए नजर नहीं आएंगे।


2. लसिथ मलिंगा




श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के अनुभवी तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा दुनिया के सबसे खतरनाक गेंदबाजों में से एक है। बता दें कि 35 वर्षीय मलिंगा जिन्होंने 2018 के एशिया कप में वापसी की थी किंतु अब इनका करियर इतना नहीं है और संभवत 2020 के विश्व कप से पूर्व संन्यास ले लेंगे। मलिंगा ने 70 टी-20 इंटरनेशनल मैचों में अब तक 94 विकेट लिए हैं।


3. रॉस टेलर




न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के अनुभवी बल्लेबाज रॉस टेलर जिनके बारे में भी खबरें यही मिल रही है कि वह 2019 विश्व कप के बाद क्रिकेट को अलविदा कह देंगे। बता दें कि टेलर ने अब तक 96 टी-20 इंटरनेशनल मैच खेले जिसमें 1523 रन बनाए हैं।


तो देखा जाएगा कि ये धुरंधर वाकई 2020 का विश्व कप खेल पाते हैं या नहीं क्योंकि बाहर खबरें कुछ भी मिले लेकिन अंतिम निर्णय खिलाड़ियों को ही लेना होता है। इस विश्वकप से पूर्व इंग्लैंड और वेल्स में इसी वर्ष 50 ओवरों का भी विश्व कप खेला जाने वाला है जिसमें ये अपना जलवा दिखा सकते है।


यह भी जरूर पढ़ें- 3 टीम जो 2020 टी20 खिताब जीतने की प्रबल दावेदार बताई जा रही हैं, पाकिस्तान सबसे मजबूत टीम बताई गयी

0 Comment

5 खिलाड़ी जो अभी भी विश्वकप 2019 की भारतीय टीम में जगह बना सकते हैं

आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 शुरू होने में अब 2 महीने से भी कम का समय बाकि हैं. भारत सहित सभी टीमें एक मजबूत बनाने के लिए तैयारियों में जुट चुकी हैं. इंग्लैंड के विरुद्ध हाल में खेली गयी वनडे सीरीज के दौरान टीम इंडिया के मध्यक्रम की नाकामी खुलकर सामने आई. जिसके बाद टीम मैनेजमेंट अब कुछ बड़े फैसले ले सकती हैं और टीम से कुछ खिलाड़ियों को निकालकर अन्य खिलाड़ियों को मौका दे सकती हैं.

इस लेख में 5 ऐसे खिलाड़ियों के बारे में जानेगे, जो अब भी आईसीसी वर्ल्डकप 2019 के लिए टीम इंडिया में जगह बना सकते हैं.



1) ऋषभ पंत

दिल्ली के घरेलू क्रिकेट खेलने वाले युवा विकेटकीपर बल्लेबाज़ ऋषभ पंत पिछले कुछ वर्षो से घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छी बल्लेबाज़ी के कारण सुर्ख़ियों में हैं. बेहद कम समय में पंत ने बतौर विस्पोटक बल्लेबाज़ अपनी एक अलग पहचान बनायीं हैं. आईपीएल 11 में भी पंत ने कई तूफानी पारी खेलते हुए सभी को प्रभावित किया था.

ऋषभ पंत पर अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने के लिए पूरी तरह से तैयार है. ऐसे में टीम मैनेजमेंट उन्हें वर्ल्डकप 2019 में एमएस धोनी के विकल्प के रूप में शामिल कर सकती हैं.



2) अंबाती रायडू

अंबाती रायडू एक बेहद अनलकी क्रिकेटर रहे हैं. अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट में शानदार बल्लेबाज़ी के बावजूद वह आज टीम इंडिया के हिस्सा नहीं हैं. आईपीएल 2018 में भी रायडू ने 16 मैचो में 43 की औसत से 602 रन बनायें थे, इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 150 के करीब रहा था. आईपीएल में धमाल मचाने के बाद रायडू को इंग्लैंड दौरे पर खेली जाने वाली सिमित ओवर सीरीज के लिए टीम में चुना गया था लेकिन योयो टेस्ट में फेल होने के बाद उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया.



3) क्रुनाल पंड्या

क्रुनाल पंड्या अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू के बेहद करीब हैं. क्रुनाल ने पिछले वर्षो से घरेलू क्रिकेट में अपनी फिरकी गेंदबाजी और आक्रामक बल्लेबाजी के सभी को हैरान किया हैं. क्रुनाल ने आईपीएल 2016 में मुंबई इंडियंस के ओर से खेलते हुए डेब्यू किया था और अपने प्रदर्शन से हार्दिक पंड्या के बड़े भाई होने का टैग हटा दिया.

क्रुनाल पंड्या अपनी स्पिन गेंदबाजी के साथ-साथ निचकेक्रम  पर मैच फिनिश करने की क्षमता रखते हैं. क्रुनाल पंड्या टीम इंडिया में नंबर 6 पर अपनी दावेदारी पेश कर सकते हैं. जिसके कारण चयनकर्ता वर्ल्डकप 2019 की टीम चुनने के दौरान क्रुनाल पर विचार कर सकते हैं.



4) वाशिंगटन सुंदर

तमिलनाडु के युवा स्पिन ऑलराउंडर वाशिंगटन सुंदर एक बेहद ही होनहार खिलाड़ी हैं. कुछ महीनों पहले श्रीलंका में खेली गयी निद्हास ट्राफी में सुंदर को चुना था, जिस दौरान उन्होंने अपने प्रदर्शन से सभी को प्रभावित किया हैं. इस सीरीज के दौरान सुंदर सबसे ज्यादा विकेट लेने के साथ मैन ऑफ़ द सीरीज जीतने वाले खिलाड़ी रहे थे.

आईपीएल 2018 में वाशिंगटन सुंदर विराट कोहली की कप्तानी वाली आरसीबी के लिए खेलते हुए दिखाई दिए थे, हालाँकि उनका प्रदर्शन उम्मीद के मुताबिक नहीं रहा था. चोट के कारण टीम से बाहर चल रहे सुंदर के लिए टीम इंडिया में जगह बनाना आसान नहीं होगा, लेकिन वह जल्द ही अपनी कमजोरियों को सुधारकर टीम इंडिया में नंबर 7 की पोजीशन पर फिट हो सकते हैं.



5) श्रेयस अय्यर

इस सूची में शामिल किये गए खिलाड़ियों में से श्रेयस अय्यर टीम इंडिया में शामिल किये जाने वाले सबसे प्रबल दावेदार हैं. आईपीएल सहित घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन करने के बाद उन्हें अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू का मौका मिला था. इस दौरान उन्होंने श्रीलंका के विरुद्ध दो लगातार अर्द्धशतक जरुर लगायें, लेकिन दक्षिण अफ्रीका में खेली गयी वनडे सीरीज में उनका प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा. जिसके बाद उन्हें प्लेइंग इलेवन के बाहर कर दिया गया.

श्रेयस अय्यर एक ऐसे खिलाड़ी हैं, जो जल्द ही घरेलू क्रिकेट में दोबारा अच्छा प्रदर्शन करके टीम इंडिया में वापसी कर सकते हैं. वर्ल्डकप 2019 खेलने वाले भारतीय टीम में अय्यर नंबर 4 खेल सकते हैं.


यह भी जरूर पढ़ें- धोनी या गांगुली नहीं बल्कि ये 3 इंडियन खिलाड़ी है भारत के सर्वश्रेष्ठ कप्तान, इनकी कप्तानी में कभी नहीं हारी टीम इंडिया

0 Comment