धोनी में आ गये हैं 3 निराशाजनक बदलाव, पढ़िए आखिर क्यों इन्डियन टीम से जल्द से जल्द बाहर होने चाहिए महेंद्र सिंह धोनी

धोनी में आ गये हैं 3 निराशाजनक बदलाव, पढ़िए आखिर क्यों इन्डियन टीम से जल्द से जल्द बाहर होने चाहिए महेंद्र सिंह धोनी

धोनी में आ गये हैं 3 निराशाजनक बदलाव- क्रिकेट इतिहास में जब भी भारतीय टीम की बात होगी महेंद्र सिंह धोनी एक ऐसा नाम जो इसके साथ हमेशा लिया जाएगा. बहुत कम समय में धोनी ने भारतीय क्रिकेट टीम को उस ऊंचाई तक ले गए जहां आज तक भारतीय क्रिकेट नहीं पहुंच पाया. धोनी एक ऐसे ऐसे कप्तान के रूप में भी खुद को साबित करने में सफल रहे जिन्होंने हर परिस्थितियों में जो फैसला लिया वो उनके फेवर में चला गया.

धोनी ने एक अच्छा समय भारतीय क्रिकेट को दिया. फिलहाल वो टीम से जुड़े हुए हैं लेकिन लंबे बाल और सामान्य से दिखने वाले धोनी अब बदल गए हैं. आज हम आपको उस लंबे बाल वाले धोनी और आज के धोनी में हुए तीन निराशाजनक बदलाव हुए. धोनी में आ गये हैं 3 निराशाजनक बदलाव


धोनी में आ गये हैं 3 निराशाजनक बदलाव   धीमी स्ट्राइक रेट से रन-


धोनी को धुरंधर बल्लेबाज के रूप में जाना जाता है लेकिन वह धुरंधर बल्लेबाज अब कहीं गायब सा हो गया है. धोनी का स्ट्राइक रेट लगातार धीमा होता जा रहा है. धोनी ने ODI में कुल 318 मैच खेले जिसमें 48 की स्ट्राइक रेट से 9967 रन बनाए. उनका हाई स्कोर 183 रहा है. शुरुआत में जिस तेजी के साथ धोनी मैदान पर उतरते थे उसी तेजी के साथ उनके बल्ले से रंगों की बौछार होती थी लेकिन अब ऐसा नहीं हो पा रहा है.

धोनी में आ गये हैं 3 निराशाजनक बदलाव   ज्यादा बोल खेलकर चौके-छक्के बिल्कुल ना लगाना-


उस लंबे बाल वाले धोनी को याद कीजिए तो मैदान पर आते ही सिर्फ कुछ बोले खेलकर वापस पवेलियन लौट जाया करते थे उनका मकसद एक बड़ा स्कोर खड़ा करना था. मैदान पर थोड़ी देर ही रुकते थे लेकिन इस मामूली समय में उनके बल्ले से सिर्फ चौके और छक्के ही निकलते थे. यही कारण था कि बहुत कम समय में स्टार बल्लेबाज में शामिल हो गए. कुल 318 मैचों में धोनी ने 770 चौके और 217 छक्के लगाए हैं.

धोनी में आ गये हैं 3 निराशाजनक बदलाव   अंतिम ओवर में विकेट बचाना-

पिछले कुछ मैचों में धोनी को रोक रोक कर खेलते देखा गया. पहले धोनी लगातार बल्ले से रन बनाने में लगे रहते थे. उन्हें विकेट की टेंशन कभी नहीं हुई लेकिन अब धोनी टेंशन लेते हैं रन बने ना बनेवह देर तक पर बने रहें.

शायद यही वजह है कि धोनी के खेल को देखकर अब निराशा होती है. भारतीय टीम के लिए किए गए योगदान को नकारा नहीं जा सकता लेकिन इसके बावजूद उन्हें टीम के भविष्य के बारे में भी सोचना होगा. उन्होंने जो किया वह बेस्ट था. उनका कर्तव्य था लेकिन आगे भी उन्हें अपना बेस्ट और कर्तव्य दोनों ही पर ही काम करना होगा. उसके लिए जरूरी है कि खुद की परफॉर्मेंस को सुधार ले.

0 Comment

तीसरे टेस्ट मैच को हारने के बाद ये 3 इन्डियन क्रिकेटर्स लेने वाले हैं क्रिकेट से संयास, एक बाएँ हाथ का बड़ा बल्लेबाज भी है इनमें शामिल

ये 3 इन्डियन क्रिकेटर्स ले सकते हैं टेस्ट से सन्यास- भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच में अभी तक दो टेस्ट हो चुके हैं और अब इन्डियन टीम की अभी तक बनी हुई सारी इज्जत खत्म हो चुकी है. विराट कोहली ने जिस तरह से अभी तक टेस्ट मैच जीतकर इन्डियन टीम को नंबर वन के पायदान पर पहुचाया है उसकी पोल भी खुल चुकी है.

इन्डियन टीम ने लगातार भारत में टेस्ट मैच खेले और यहाँ पर हर टीम को स्पिनर की पिच पर खिलाया था. यही मुख्य कारण रहा था कि पिछले 30 टेस्ट मैच में से इन्डियन टीम को 21 में जीत मिली थी. लेकिन जैसे ही साल 2018 के पहले दो टेस्ट मैच दक्षिण अफ्रीका में खेले गये तो इन्डियन टीम की हालत सामने आ गयी है. अ

ब दक्षिण अफ्रीका की टेस्ट सीरीज के बाद कहीं ना कहीं कई इन्डियन खिलाड़ियों के करियर पर ही सवालियां निशान उठने लगे हैं. तो आइये आपको उन 3 इन्डियन खिलाड़ियों के नाम बताते हैं जो भारत और दक्षिण अफ्रीका टेस्ट के बाद सन्यास ले सकते हैं- ये 3 इन्डियन क्रिकेटर्स ले सकते हैं टेस्ट से सन्यास


दक्षिण अफ्रीका टेस्ट दौरे के बाद ये 3 इन्डियन क्रिकेटर्स लेने वाले हैं क्रिकेट से संयास पार्थिव पटेल का करियर भी अब खत्म 

आपको बता दें कि पार्थिव पटेल का करियर अब खत्म हो चुका है. कहीं ना कहीं पार्थिव पटेल के पास यह एक ऐसा मौका था कि जब इनको खुद साबित करना था. लेकिन पार्थिव पटेल ने तो यह साबित किया है कि वह विकेटकीपिंग भी भूल चुके हैं. मैच में जिस तरह से पार्थिव पटेल ने कैच छोड़े हैं और विकेट के पीछे खराब फील्डिंग की है तो उसके बाद अब यह लगने लगा है कि खुद पार्थिव पटेल ही शायद क्रिकेट को छोड़ देंगे.


दक्षिण अफ्रीका टेस्ट दौरे के बाद ये 3 इन्डियन क्रिकेटर्स लेने वाले हैं क्रिकेट से संयास गौतम गंभीर खुद ही अब दक्षिण अफ्रीका सीरीज के बाद ही सन्यास ले लेंगे 

गौतम गंभीर को लगातार इगनोर किया जा रहा है. कहीं ना कहीं दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हुई टेस्ट सीरीज में गौतम को लेकर जाना चाहिए था. लेकिन कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री ने कहीं भी गौतम के ऊपर विश्वास नहीं दिखाकर बड़ी गलती की है.


दक्षिण अफ्रीका टेस्ट दौरे के बाद ये 3 इन्डियन क्रिकेटर्स लेने वाले हैं क्रिकेट से संयास इशांत शर्मा के सामने बड़ी मुश्किल आ गयी है 

वहीँ आपको बता दें कि इशांत शर्मा के सामने एक बड़ी मुश्किल आने वाली है. लगातार इन्डियन टीम के पास कई युवा तेज गेंदबाज सामने आ रहे हैं. ऐसे में इशांत शर्मा का नाम अब टेस्ट और वनडे दोनों से ही गायब होने वाला है. इसके बाद इशांत के सामने सन्यास के अलावा शायद कोई और रास्ता नहीं बचने वाला है.  

तो अब दक्षिण अफ्रीका टेस्ट मैच के बाद ये 3 इन्डियन खिलाड़ी कभी भी सन्यास की घोषणा कर सकते हैं. वैसे अब पार्थिव पटेल और इशांत शर्मा के पास सन्यास के अलावा शायद कोई और रास्ता भी नहीं बचने वाला है.

0 Comment

2018 ASIA CUP- एशिया कप के लिए टीम इण्डिया से बाहर हुए ये 3 भारतीय खिलाड़ी, नाम देखकर आपकी आँखों में शर्त से आ जायेंगे आंसू

2018 ASIA CUP- एशिया कप 2018 शुरू होने में अब बेहद कम समय बाकि रह गया हैं. जिसके कारण अब इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाली सभी टीमों ने तैयारियां तेज कर दी हैं. 15 सितम्बर से शुरू हो रहे एशिया कप में एशिया की टॉप 6 टीमें चैंपियन बनने के लिए अपना सर्वोच्च प्रदर्शन करेगी.

एशिया कप के लिए अब देशों ने अपनी टीमों का ऐलान करना शुरू कर दिया हैं. हालाँकि टीम इंडिया अपने 16 सदस्यों की टीम का ऐलान शनिवार(1 सितम्बर) को करेगी. इस लेख में हम 3 ऐसे खिलाड़ियों के बारे में जानेगे, जिन्हें एशिया कप 2018 के लिए टीम इंडिया में जगह नहीं मिलेगी:-


2018 ASIA CUP i) केदार जाधव

33 वर्षीय बल्लेबाज़ी ऑलराउंडर केदार जाधव इस वर्ष की शुरुआत में टीम इंडिया के प्रमुख खिलाड़ी हुआ करते थे. हालाँकि आईपीएल में चोटिल होने के बाद अब टीम में उनकी वापसी बेहद मुश्किल दिखाई दे रही हैं. जाधव के गैरमौजूदगी में कार्तिक और श्रेयस जैसे खिलाड़ियों में अच्छा प्रदर्शन किया हैं. जिसके कारण टीम में जगह मिलना अब मुश्किल हैं.

2018 ASIA CUP ii) सुरेश रैना


बाएं हाथ के बल्लेबाज सुरेश रैना ने इंग्लैंड दौरे पर करीब 3 वर्षो बाद भारत की वनडे टीम में वापसी की थी. दरअसल इंग्लैंड दौरे के लिए अंबाती रायडू को चुना गया था लेकिन वह यो-यो टेस्ट में फेल होने के कारण इंग्लैंड नहीं जा सके है. अब रायडू फिटनेस पास कर चुके है और अच्छी फॉर्म में भी हैं. ऐसे में सुरेश रैना का टीम से बाहर होना लगभग तय ही हैं.


2018 ASIA CUP iii) वाशिंगटन सुंदर

युवा स्पिन ऑलराउंडर वाशिंगटन सुंदर को इंग्लैंड दौरे के लिए टीम में चुना गया था, हालाँकि वह दौरे की शुरुआत में भी एडी की चोट कारण दौरे से बाहर हो गए थे.

अब वह फिट है लेकिन चयनकर्ता उनके स्थान पर घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करने वाले अक्षर पटेल या क्रुनाल पंड्या को मौका दे सकती हैं.    

0 Comment

मैच में हुई 3 ऐसी बातें जो साबित करती हैं कि आज भी इंडियन टीम के कप्तान हैं धोनी

कप्तान धोनी- धोनी को इग्नोर करना मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन है. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अगर कहीं मौजूद हैं तो इनको कोई भी इग्नोर नहीं कर सकता है.

बेशक आज बोर्ड ने धोनी से कप्तानी लेकर विराट कोहली को कप्तान बना दिया है लेकिन जब टीम इंडिया फील्ड पर होती है तब आज भी धोनी ही टीम को लीड करते हुए नजर आते हैं. तो आइये आज हम आपको कुछ ऐसे सबूत देते हैं जो यह साबित करते हैं कि वनडे में आज भी कप्तानी धोनी ही कर रहे हैं. कप्तान धोनी-


कप्तान धोनी

  • रिव्यू के समय धोनी का फैसला
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच में जसप्रीत बुमराह अचानक से लेगबाई की अपील की. इस अपील में दम था इसलिए विराट कोहली अचानक से पिच पर आ जाते हैं. अब कोहली को रिव्यू का निर्णय करना था. लेकिन तभी वह धोनी की तरफ देखने लगते हैं.

असल में रिव्यू का फैसला धोनी हमेशा से सही लेते हैं और साथ ही साथ अब जबसे वह कप्तान नहीं हैं तबसे तो उनके फैसले कुछ और बेहतर हो गये हैं. धोनी कोहली के पास आते हैं और कुछ बोलकर उनको रिव्यू लेने को बोलते हैं. कोहली तुरंत अम्पायर को रिव्यू लेने का इशारा करते हैं. इस रिव्यू में टीम इंडिया को विकेट मिल जाता है. चैम्पियन ट्राफी में कई बार कोहली को गलत रिव्यू लेने से धोनी ने ही बचाया है.


कप्तान धोनी

  • धोनी तय करते हैं मुख्य बातें
क्रिकेट पंचायत खेल एक्सपर्ट्स ने दक्षिण अफ्रीका मैच से पहले ही बताया था कि अगर धोनी को अपनी टीम बनाने का मौका मिला या धोनी को निर्णय लेने हुए तो वह अश्विन और जडेजा के साथ मैदान पर आयेंगे और वहीं टॉस जीतकर बाद में बल्लेबाजी करने आयेंगे.

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यह दोनों बातें सही साबित हुई हैं. इस पूरे दृश्य से यह बात सही साबित होती है कि धोनी मैच से पहले कोहली को सही राय दे रहे हैं और आज भी टीम की कमान धोनी के हाथ में ही है.


कप्तान धोनी

  • फील्डिंग रखते हैं अपने हिसाब से
आपने कभी ध्यान दिया हो तो, धोनी आज भी विकेट के पीछे से फील्डिंग को सही करते रहते हैं. कई बार धोनी को लगता है कि यहाँ कोहली का अनुभव कम है तो वह अपने हिसाब से फील्डर को सही कर देते हैं.

इस बात की वजह से कई बार बड़े रन भी बच गये हैं. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हुए रन आउट धोनी की फील्डिंग की वजह से ही थे.   तो यह बातें साबित करती हैं कि आज भी टीम इंडिया के कप्तान धोनी ही हैं. ऐसा नहीं है कि कोहली के पास काबिलियत नहीं है बल्कि वह अभी अनुभव की इज्जत कर रहे हैं और धोनी से अधिक से अधिक बातें सीखने में लगे हुए हैं.  

CricketPanchayat के Facebook पेज को लाइक करें और क्रिकेट से जुड़ी हर खबर पर रखें पैनी नजर. फेसबुक पेज का हमारा लिंक है- FACEBOOK PAGE.  


Must Read- चैम्पियन ट्राफी भारत और दक्षिण अफ्रीका- अब धोनी सँभालने वाले हैं टीम की कमान

 

0 Comment