वर्ल्ड कप 2019 - ये है वो तीन सबसे छोटे कप्तान जिन्होंने जिताया है अपनी कप्तानी में टीम को विश्व कप- क्रिकेट पंचायत

वर्ल्ड कप 2019 - ये है वो तीन सबसे छोटे कप्तान जिन्होंने जिताया है अपनी कप्तानी में टीम को विश्व कप- क्रिकेट पंचायत

तीन सबसे छोटी उम्र के क्रिकेटर जिन्होंने जिताया अपनी कप्तानी में अपनी टीम को विश्व कप

आईसीसी क्रिकेट विश्व कप की शुरुआत साल 1975 में इंग्लैंड में हुई थी। उस दौरान इतने मुकाबले तो नहीं खेले जाते थे। लेकिन आज काफी ज्यादा परिवर्तन हुआ है। 2019 में इसका 12वां एडिशन 30 मई से शुरू होगा जिसमें 10 टीमें भाग लेकर 48 मैच खेलने वाली है। भारतीय टीम का पहला मैच विराट कोहली की कप्तानी में 5 जून को दक्षिण अफ्रीका के साथ होगा। इसके साथ ही महेंद्र सिंह धोनी अब अपना आखिरी विश्वकप खेलते हुए नजर आएंगे क्योंकि इसके बाद यह संन्यास ले लेंगें

आज के टॉपिक में हम बात करने वाले हैं उन कप्तानों के बारे में जिन्होंने सबसे कम उम्र में विश्व कप का खिताब अपनी कप्तानी में जीताया है। तो चलिए डालते हैं एक नजर इस विशेष रिकॉर्ड पर और जानेंगे कि कौन से वो तीन कप्तान रहे होंगे जिन्होंने यह कारनामा अपने नाम किया।

ये है वो तीन सबसे छोटे कप्तान जिन्होंने जिताया है अपनी कप्तानी में टीम को विश्व कप -


कपिल देव

साल 1983 के विश्व कप में भारतीय टीम की कप्तानी कपिल देव के पास थी। बता दें कि इस टूर्नामेंट में टीम इंडिया ने फाइनल मुकाबले में वेस्टइंडीज को पटखनी देकर ट्रॉफी उठाई थी। विश्वास नहीं होगा लेकिन आपको बता दें कि उस समय कपिल देव की उम्र 24 वर्ष 5 महीने और 19 दिन थी और यही सबसे छोटे कप्तान हैं जिन्होंने आईसीसी विश्व कप का खिताब जिताया था।

रिकी पोंटिंग

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम को दो बार अपनी कप्तानी में विश्व कप दिलाने वाले रिकी पोंटिंग इस मामले में दूसरे स्थान पर आते हैं। बता दें कि 2003 में जब पोंटिंग ने अपनी कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया को ट्रॉफी दिलाई थी तो उस समय उनकी उम्र 28 वर्ष 3 महीने और सिर्फ 4 दिन थी। इस तरह अभी ये दूसरे नंबर पर है।

महेंद्र सिंह धोनी

भारतीय क्रिकेट टीम जिसने अभी तक आईसीसी के दो खिताब जीते हैं। पहला जब कपिल देव ने 1983 में जिताया था तो दूसरा 2011 में महेंद्र सिंह धोनी ने। जानकारी के लिए आपको बता दें कि धोनी ने जब अपनी कप्तानी में भारत को 2011 का विश्वकप जिताया था तो उस समय उनकी उम्र सिर्फ 29 साल 8 महीने और 26 दिन थी।

तो अब तक इन तीन कप्तानों ने सबसे छोटी आयु में क्रिकेट विश्व कप का खिताब अपनी टीमों को जिताया है। तो क्या कोहली नंबर चार पर आ सकते है, यह तो समय ही बता पायेगा।

यह भी पढ़ें - क्रिकेट जगत में ये विश्व स्तर के बल्लेबाज कभी नहीं हुए जीरो पर आउट

0 Comment

ICC वर्ल्ड कप 2019 : यह 3 दिन गेंदबाज जो आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 में ले सकते हैं सबसे ज्यादा विकेट

ICC वर्ल्ड कप 2019 में सबसे ज्यादा विकेट लेने संभावित गेंदबाज

एक तो क्रिकेट का महा संग्राम अभी भारत में चल रहा जिसे इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) कहा जाता है और दूसरा महा संग्राम 30 मई से शुरू होने वाला है। जी हाँ, हम बात कर रहे आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 की जो अगले महीने में इंग्लैंड और वेल्स में शुरू होने वाला है। इस टूर्नामेंट में हर गेंदबाज अच्छा प्रदर्शन करते हुए अपनी टीम को जिताना चाहेगा लेकिन दूसरी तरफ हर बल्लेबाज इन गेंदबाजों की पिटाई करना चाहेगा। चलिये आज हम बात करने वाले हैं उन तीन गेंदबाजों के बारे में जो इस आगामी विश्व कप में सबसे ज्यादा विकेट ले सकते हैं।

यह 3 दिन गेंदबाज जो आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 में ले सकते हैं सबसे ज्यादा विकेट

जसप्रीत बुमराह

भारतीय क्रिकेट टीम के युवा तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह आज आईसीसी की वनडे रैंकिंग में पहले नंबर पर हैं। बुमराह अभी सिर्फ 25 वर्ष के हैं और अपनी घातक गेंदबाजी के लिए पूरी दुनिया भर में जाने जाते हैं। इन्होंने अब तक 49 वनडे मैचों में 85 विकेट लिए हैं। इस तरह आगामी विश्व कप में सबसे ज्यादा विकेट लेने के चांस बुमराह में ही देखे जा रहे हैं।

कागिसो रबाडा

दक्षिण अफ्रीका के युवा तेज गेंदबाज कागिसो रबाडा जो कोहली की तरह अग्रेसिव खिलाड़ी हैं। इस 23 वर्षीय तेज गेंदबाज ने अपने करियर की शुरुआत सन 2015 में की थी। यह वनडे, टी-20 और टेस्ट तीनों प्रारूपों में अपनी टीम का प्रतिनिधित्व करते हैं। बता दें कि इस युवा ने अब तक 66 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैचों में 106 विकेट लिए हैं। जिसमें की सबसे अच्छी गेंदबाजी 16 रन देकर 6 विकेट है।

ट्रेंट बोल्ट

इसी बीच तीसरे गेंदबाज की बात करें तो वह है न्यूजीलैंड के अनुभवी तेज गेंदबाज ट्रेंट अलेक्जेंडर बोल्ट। जी हां, जिन्हें आज ज्यादातर ट्रेंट बोल्ट के नाम से ही जानते है। 30 वर्षीय बोल्ट आज आईसीसी क्रिकेट वनडे रैंकिंग में दूसरे स्थान पर है। इन्होंने 79 मैचों में 147 विकेट अपने नाम किए हैं। वहीं अगर सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी की बात करें तो एक मैच में उन्होंने 34 रन देकर 7 विकेट लिए थे।


इस प्रकार हम मान सकते हैं कि आगामी क्रिकेट विश्व कप में इन तीन गेंदबाजों में से कोई सबसे अधिक विकेट लेकर गेंदबाजी का यह कारनामा अपने नाम कर सकता है।


यह भी पढ़ें - इस गेंदबाज ने लिए थे लगातार 4 गेंदों पर 4 विकेट

0 Comment

ICC World Cup 2019: इन गेंदबाजों ने लिए है आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में सबसे ज्यादा विकेट Maximum wickets in world cup

ICC वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले 5 गेंदबाज


आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में खेलने तो बहुत खिलाड़ी आते है लेकिन सफल बहुत कम होते हैं। जी हां क्रिकेट विश्व कप जो सबसे बड़ा टूर्नामेंट होता है और यह हर 5 साल में एक बार आयोजित किया जाता है। इस बीच आपको बता दें कि इस वर्ष अर्थात 2019 में 50 ओवरों का क्रिकेट विश्व कप इंग्लैंड और वेल्स में आयोजित किया जाने वाला है। टूर्नामेंट में 8 टीमें भाग लेने वाली है जिसमें से एक भारत भी है। हालांकि लंबे समय बाद जिंबाब्वे और आयरलैंड की टीम इस टूर्नामेंट में खेलते हुए नहीं आएगी क्योंकि दोनों ही टीमें क्वालीफाई करने से नाकामयाब रही है।

आज हम बात करने वाले हैं उन पांच गेंदबाजों के बारे में जिन्होंने आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में अपने सफर के दौरान सबसे ज्यादा विकेट लिए है। तो चलिए बिना समय गवाएं उस खास रिकॉर्ड पर एक नजर डालते हैं।

इन गेंदबाजों ने लिए है आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में सबसे ज्यादा विकेट Top 5 Wicket takers in world cup

ग्लेन मैकग्राथ

ऑस्ट्रेलियाई पूर्व क्रिकेटर ग्लेन मैकग्राथ ने 1996 से 2007 तक कुल 39 विश्व कप के मैचों में सबसे अधिक 71 विकेट लिए। इस दौरान इनका सबसे अच्छा गेंदबाजी प्रदर्शन 15 रन देकर 7 विकेट रहा था।

वसीम अकरम

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के सबसे काबिल गेंदबाजों में से एक वसीम अकरम आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में विकेटों के मामले में दूसरे स्थान पर हैं। बता दें कि इन्होंने  1987 से 2003 के विश्वकप तक कुल 38 मुकाबलों में 55 विकेट लिए। इनका सबसे अच्छा गेंदबाजी प्रदर्शन 28 रन देकर पांच विकेट रहा था।

मुथैया मुरलीधरन

श्रीलंकाई पूर्व क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन विकेटों के मामले में तीसरे स्थान पर हैं। उन्होंने अपने 31 मुकाबलों में कुल 53 विकेट हासिल किए। हालांकि यह कभी भी 5 विकेट एक मैच में नहीं ले पाये।

चमिंडा वास

दुनिया के सबसे खतरनाक गेंदबाजों में से एक कहे जाने वाले श्रीलंका के पूर्व तेज गेंदबाज चमिंडा वास चौथे नंबर पर है। वास ने अपने 31 एकदिवसीय मुकाबलों में कुल 49 विकेट हासिल किए। इस दौरान उन्होंने एक मैच में 25 रन देकर 6 विकेट लिए थे।

जवागल श्रीनाथ

भारतीय क्रिकेटर जवागल श्रीनाथ का नाम विश्व कप में ज्यादा विकेट लेने वालों के मामले में पांचवें नंबर पर आता है। श्रीनाथ ने कुल 34 मैच विश्व कप में खेले जिसमें 44 विकेट प्राप्त किए। इस दौरान उन्होंने दो बार किसी मैच में 4 विकेट झटके।


यह भी पढ़ें - आईसीसी क्रिकेट विश्वकप के 3 सबसे सफलतम विकेटकीपर कौन हैं?

0 Comment

Wicket keeper Records- आईसीसी क्रिकेट विश्वकप के 3 सबसे सफलतम विकेटकीपर कौन हैं?

wicket keeper records | विकेटकीपर रिकार्ड्स

(wicketkeeper records | विकेटकीपर रिकार्ड्स)- क्रिकेट में विकेटकीपर का किरदार सबसे अलग ही होता है क्योंकि उन्हें कई काम करने होते है, जैसे विकेटकीपिंग करना, बल्लेबाजी करना और गेंदबाजी के लिए कप्तानी. जी हां किसी क्रिकेट मैच में सबसे ज्यादा काम विकेटकीपर को करना होता है और आपने शायद महेंद्र सिंह धोनी को देखकर समझ भी लिया होगा.

खैर, आज हम किसी स्पेसिफिक खिलाड़ी के बारे में बात नहीं करने वाले हैं बल्कि हम बात करेंगे आईसीसी क्रिकेट विश्वकप में विकेटकीपरों के बारे में जिन्होंने सबसे ज्यादा शिकार किए है.


आईसीसी क्रिकेट विश्व कप के ये है सबसे सफलतम विकेटकीपर


1. कुमार संगकारा kumar sangakkara (श्रीलंका)

श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज कुमार संगकारा जो दुनिया के सबसे महान क्रिकेट खिलाड़ियों में से एक हैं. उन्होंने क्रिकेट से संन्यास ले लिया है. संगकारा ने अपने क्रिकेट सफर के दौरान कुल 37 मुकाबलों में 54 डिसमिल किए. इस दौरान 41 कैच और 13 स्टंप रहे . यह अभी भी इस मामले में पहले स्थान पर हैं.


2. एडम गिलक्रिस्ट (ऑस्ट्रेलिया)

ऑस्ट्रेलियाई पूर्व तूफानी विकेटकीपर बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट दुनिया के सबसे खतरनाक विकेटकीपर माने जाते हैं. गिलक्रिस्ट ने 1999 से 2007 के विश्व कप तक कुल 31 मुकाबले खेले जिसमें 52 शिकार विकेटों के पीछे किये थे. इसमें उनके 45 कैच और 7 स्टम्प थे.


3. महेंद्र सिंह धोनी ms dhoni (भारत)

भारतीय क्रिकेट टीम को अपनी कप्तानी में विश्व कप का खिताब जितवाने वाले महेंद्र सिंह धोनी इस मामले में तीसरे स्थान पर हैं. बता दें कि धोनी ने अब तक क्रिकेट विश्वकप में 20 मुकाबले खेले हैं. इस दौरान 32 शिकार इन्होंने अपनी विकेटकीपिंग के दौरान किए हैं जिसमें 27 कैच रहे तो बाकी 5 स्टंप आउट है.


साथ ही आपको बता दें कि धोनी आगामी विश्व कप में भारतीय टीम में खेलते हुए नजर आने वाले हैं. इस कारण उनके पास इन खिलाड़ियों को पीछे छोड़ने का मौका तो रहेगा लेकिन मंजिल थोड़ी ज्यादा ही दूर है क्योंकि सम्भवतः माही इस विश्व कप के बाद दुबारा ऐसा टूर्नामेंट फिर कभी नहीं खेलेंगे.

इस गेंदबाज ने लिए थे लगातार 4 गेंदों पर 4 विकेट - क्रिकेट पंचायत

0 Comment